पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्रवाई:फर्जी टीपी बनाकर व हैमर लगाकर किया जा रहा था अाम की लकड़ियाें का अवैध परिवहन, दाे ट्रक जब्त

बागलीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • बालाघाट सिवनी से इंदाैर की ओर जा रहे थे ट्रक, दाेनाें ट्रकाें में भरी थी 4 लाख रुपए की लकड़ी

इंदाैर-बैतूल नेशनल हाईवे स्थित चापड़ा में वन विभाग के नाका क्रमांक एक पर मंगलवार रात करीब 1 बजे विभाग ने आम की लकड़ियाें से भरे दाे ट्रक जब्त किए। फर्जी टीपी बनाकर व फर्जी हैमर लगाकर आम की लकड़ी का बालाघाट सिवनी से इंदाैर की ओर अवैध परिवहन किया जा रहा था। पांच आराेपियाें काे भी गिरफ्तार किया गया। दाेनाें ट्रकाें में भरी लकड़ियाें की कीमत करीब चार लाख रुपए है। दरअसल डीएफओ पीएन मिश्रा के निर्देशन व बागली एसडीओ अमित सोलंकी के मार्गदर्शन में लकड़ी माफिया के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है।

29 सितंबर की रात करीब एक बजे हरदा की ओर से दो ट्रक आम की मोटी-मोटी लकड़ियां भरकर इंदौर की ओर जा रहे थे। तभी चापड़ा स्थित वन विभाग के नाका का क्रमांक एक पर धनतलाव नाके से सूचना मिली कि दो ट्रक आम की गीली लकड़ी भरकर आ रहे हैं। उन्होंने हमारे नाके पर चैकिंग नहीं कराई है, इसलिए आप जरूर चैक करना। इस पर डिप्टी रेंजर नरेंद्रसिंह ठाकुर, वनकर्मी मदनलाल व बद्री पटेल नाके पर बैठ गए। जैसे ही दोनों ट्रक आए वनकर्मियों ने राेककर ट्रक में भरी लकड़ियाें की टीपी चेक की तो उन्हें मामला संदिग्ध लगा। रेंजर कुलदीपसिंह ठाकुर मौके पर पहुंचे।

बालाघाट डीएफओ बाेले-हमने काेई टीपी नहीं बनाई
वन विभाग ने दूसरे दिन 30 सितंबर काे ट्रक चालकाें के बताए पते बालाघाट की सिवनी रेंज की बनाई हुई टीपी के आधार पर वहां के डीएफओ से संपर्क किया। उन्हाेंने बताया टीपी पर पूर्वी वन मंडल सिवनी लिखा है, लेकिन हमारे यहां इस नाम से कोई मंडल नहीं है।

हमने ऐसी कोई टीपी भी नहीं बनाई है और न ही हमारे द्वारा आम के कटे हुए पेड़ों पर हैमर लगाए हैं। इसके बाद वन विभाग ने ट्रक एमपी-28, एच-1251 व एमएच-40, वाय-1894 काे जब्त किया। आराेपी हरिओम पिता हरिचकरण उपाध्याय निवासी छिंदवाड़ा, नेताराम पिता फागलाल निवासी छिंदवाड़ा, दशरथ पिता मुरारी मालवीय निवासी बहुता, अफरोज पिता शहीद खान निवासी छिंदवाड़ा व विनोद पिता संतोष पतेती निवासी छिंदवाड़ा को गिरफ्तार कर वन अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया।

खबरें और भी हैं...