पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Depalpur
  • Mahishasura Mardini Mata Gives Birth In The Morning, Observance In The Afternoon And Destruction In The Evening, Darshan Of The Mother In Different Forms Everyday In Navratri

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नवरात्र:महिषासुर मर्दिनी माता सुबह उत्पत्ति, दोपहर में पालन और शाम को संहार रूप में देती है दर्शन, नवरात्र में मां का रोज अलग-अलग रूपों में कर रहे शृंगार

देपालपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देपालपुर नगर के मध्य में विराजित महिषासुर मर्दिनी माताजी दिन में तीन रूप में दर्शन देती है। सुबह बाल्यावस्था, दोपहर में युवा और शाम को वृद्धावस्था वाला रूप दिखाई देता है। बाल्यावस्था में सरस्वती यानी सृष्टि की उत्पत्ति का रूप है, युवावस्था में महालक्ष्मी यानी पालन करने वाली का रूप होता है तथा वृद्धावस्था में रुद्राणी यानी संहार की देवी का रूप होता है।

दोनों नवरात्रि के आखिरी दिन नवमी को हवन के बाद यहां माताजी को मदिरा का भोग लगता है। नवरात्रि के नौ दिन मां को अलग-अलग रूप में सजाया जाता है। हर त्योहार पर भी माताजी का अलग रूप दिया जाता है। जैसे पौष माह की पूर्णिमा पर शाकम्बरी देवी की जयंती पर मां का शृंगार सब्जियों से किया जाता है।

दो खंड में दीपक जलाते हैं एक तेल का दूसरा घी का : महिषासुर मर्दिनी माताजी धार के राजा भोज की कुलदेवी हैं। राजा देवपाल ने मंदिर का निर्माण 1234 ईसवी में करवाया था। संतान प्राप्ति की कामना से महिलाएं मंदिर परिसर में उल्टा स्वस्तिक बनाती हैं। बच्चे होने पर तुलादान भी किया जाता है।

पार्षद महेश पुरी ने बताया यहां दो खंड में दीपक जलाए जाते हैं एक में तेल और दूसरे में देसी घी भरते हैं। माताजी की प्रतिमा के साथ भेरूजी व छोटी माताजी की भी प्रतिमा है। महंत शंकरपुरी गोस्वामी बताते हैं दोनों बहनें भाई के साथ विराजमान हैं।

अंग्रेज तहसीलदार ने एरन से बनवाया था गर्भगृह : मंदिर के पुजारी महंत शंकरपुरी गोस्वामी बताते हैं कि पूर्वजों से मिली जानकारी के अनुसार मां को यहां मदिरा का भोग लगाए जाने पर एक अंग्रेज तहसीलदार ने विश्वास नहीं किया और इसे झूठ बताकर प्रतिमा के मुंह में सरिया डालकर झूठ पकड़ने की बात कही। इस पर अंग्रेज तहसीलदार को मां ने विकराल रूप में दर्शन दिए तो अगले दिन तहसीलदार ने मंदिर आकर माफी मांगकर मां का गर्भगृह एरन से बनवाया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें