कोरोना / मिर्जा बाखल में 5 नए मरीज, लक्ष्मीबाई मार्ग पर एक, पुष्पकुंज काॅलाेनी इटावा में 9 साल का बच्चा भी पाॅजिटिव

5 new patients in Mirza Bakhal, one on Laxmibai Marg, 9 year old child also positive in Pushpunj Colony, Etawah
X
5 new patients in Mirza Bakhal, one on Laxmibai Marg, 9 year old child also positive in Pushpunj Colony, Etawah

  • चार दिन पहले एक बुजुर्ग हुआ था संक्रमित, इसके बाद 28 लाेगाें के सैंपल लेने में एक साथ 7 मरीज सामने आए

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 07:10 AM IST

देवास. शहर में धीरे-धीरे काेराेना का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। इसकी चपेट में अब नए मरीज भी अाने लगे हैं। चार दिन पहले मिर्जा बाखल में एक बुजुर्ग काेराेना संक्रमित हाे गया था, जिसकी वजह से माेहल्ले में संक्रमण फैला और शनिवार काे आई जांच रिपाेर्ट में एक साथ 5 लाेग संक्रमित पाए गए। इनमें से 4 व्यक्ति एक ही परिवार के और 1 युवती अन्य परिवार की है। 
मिर्जा बाखल में पहला मरीज सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मरीज के घर के आसपास रहने वाले 28 लाेगाें के सैंपल लिए, जिनमें से किसी में भी काेराेना के संक्रमण नजर नहीं आ रहे थे, लेकिन रिपाेर्ट आने पर पांच संक्रमित निकले। इस तरह से शहर में पहला हाॅटस्पाॅट वासुदेवपुरा, दूसरा शांतिपुरा और तीसरा मिर्जा बाखल सामने आ रहा है, जहां अभी अन्य लाेगाें की जांच हाेना बाकी है। शनिवार काे जितने भी मरीजाें की रिपाेर्ट पाॅजिटिव आई उनके परिवार काे क्वारेंटाइन सेंटर में एहतियातन भेज दिया गया है। जिले में कुल 83 मरीज हाे गए हैं, जिसमें से 8 की माैत, 44 सही हाेकर घर जा चुके हैं। 31 का इलाज चल रहा है।
बिजली कंपनी का कर्मचारी पाॅजिटिव, घर-घर बिल भी बांटे
लक्ष्मीबाई मार्ग स्थित खुर्शीद मंजिल में रहने वाले 30 वर्षीय युवक बिजली कंपनी के सीनियर जाेन में आउटसाेर्स कर्मचारी है, जाे पिछले 17 मई से घर-घर बिजली बिल बांट रहा है। 21 मई काे बुखार आने पर जिला अस्पताल में दिखाया. डाॅक्टर ने इलाज कर दवाइयां दे दी। युवक ने बताया मैंने ही डाॅक्टर से कहा कि मुझे बुखार आ रहा है और कुछ दिनाें बाद घर-घर मीटर रीडिंग लेने भी जाना है। आप मेरा सैंपल ले लीजिए। इस पर डाॅक्टराें ने सैंपल ले लिया और शनिवार काे रिपाेर्ट पाॅजिटिव आने पर टीम ने मुझे अमलतास में भर्ती कर दिया। अब मुझे समझ में नहीं आ रहा कि मुझे संक्रमण कहां से लग गया। मैं बिजली कंपनी कार्यालय के अलावा बिल बांटने गया था। बिल भी किसी के हाथ में नहीं देते हुए हर बार की तरह लाेगाें के घर के आंगन में फेंकते हुए आगे बढ़ते हैं। 
निमाेनिया की शिकायत, हर साल दिलवाना पड़ती भाप, रिपाेर्ट पाॅजिटिव
इटावा पुष्पकुंज काॅलाेनी में रहने वाले एक 9 साल के बालक की रिपाेर्ट भी पाॅजिटिव आने पर परिवार के सदस्य घबरा गए हैं। बालक के पिता ने बताया मैं पिछले दाे माह से इंदाैर में रहकर एक कंपनी में काम करता था। लाॅकडाउन हाेने से देवास नहीं आया। 20 मई काे घर से फाेन आया कि बेटी की तबीयत ज्यादा खराब है। बेटे काे 17 मई काे जिला अस्पताल में दिखाया था, जिसे निमाेनिया की शिकायत थी। डाॅक्टराें ने 3 दिन की दवाई देकर फिर दिखाने का कहा था। ज्यादा तबीयत खराब हाेने पर मैं इंदाैर से आया और उसे सीधा अमलतास अस्पताल में भर्ती करवा दिया। बेटा उसकी मां के साथ रह रहा है, जिसकी रिपाेर्ट पाॅजिटिव आई है। उसे हर साल निमाेनिया की शिकायत हाेने पर हम अस्पताल में उपचार करवाकर भाप दिलवा देते थे, लेकिन इस साल ताे वह सही नहीं हुआ।
आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भी पाॅजिटिव, परिवार के साथ अमलतास में भर्ती, बेटा क्वारेंटाइन सेंटर में
मिर्जा बाखल में सामने आए 5 में से 4 मरीज एक ही परिवार के हैं। इसमें से एक महिला अांगनवाड़ी कार्यकर्ता है। कार्यकर्ता ने बताया घर में किसी काे भी संक्रमण के लक्षण नहीं है। पड़ाेस में रहने वाले बुजुर्ग की पाॅजिटिव रिपाेर्ट आने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने हमारे परिवार के सदस्याें के भी सैंपल लिए थे। इसमें मैं, मेरी सास, ननद और पति की रिपाेर्ट पाॅजिटिव आई और 14 साल का इकलौता बेटा निगेटिव आया। घर में हम कुल 5 सदस्य हैं, जिसमें से 4 काे अमलतास और बेटे काे क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया है। उसके साथ परिवार का काेई भी सदस्य नहीं हाेने से वह घबरा रहा है। मैं लगातार उससे माेबाइल पर बात कर समझ रही हूं कि जल्द ही तुम भी घर आ जाओगे घबराओ नहीं, लेकिन बच्चा है समझ नहीं रहा है। इसी बाखल में एक 19 साल की युवती भी पाॅजिटिव आई है। जिनके पिता ने बताया बेटी घर में ही रहती है, लेकिन पड़ाेस में रहने वाले बुजुर्ग की पाॅजिटिव रिपाेर्ट आने पर हम सभी के टीम ने सैंपल लिए थे, जिसमें बेटी पाॅजिटिव आ गई। उसे उपचार के लिए अमलतास अस्पताल में ले जाया गया। 
निमाेनिया की शिकायत, हर साल दिलवाना पड़ती भाप, रिपाेर्ट पाॅजिटिव
इटावा पुष्पकुंज काॅलाेनी में रहने वाले एक 9 साल के बालक की रिपाेर्ट भी पाॅजिटिव आने पर परिवार के सदस्य घबरा गए हैं। बालक के पिता ने बताया मैं पिछले दाे माह से इंदाैर में रहकर एक कंपनी में काम करता था। लाॅकडाउन हाेने से देवास नहीं आया। 20 मई काे घर से फाेन आया कि बेटी की तबीयत ज्यादा खराब है। बेटे काे 17 मई काे जिला अस्पताल में दिखाया था, जिसे निमाेनिया की शिकायत थी। डाॅक्टराें ने 3 दिन की दवाई देकर फिर दिखाने का कहा था। ज्यादा तबीयत खराब हाेने पर मैं इंदाैर से आया और उसे सीधा अमलतास अस्पताल में भर्ती करवा दिया। बेटा उसकी मां के साथ रह रहा है, जिसकी रिपाेर्ट पाॅजिटिव अाई है। उसे हर साल निमाेनिया की शिकायत हाेने पर हम अस्पताल में उपचार करवाकर भाप दिलवा देते थे, लेकिन इस साल ताे वह सही नहीं हुअा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना