पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Dewas
  • Cannot Take The Risk Of Sending Children In Epidemic, Government And Management Ready To Eat School But Parents Worry

स्कूल शुरू करने की गाइडलाइन जारी लेकिन अभिभावक चिं:महामारी में बच्चाें काे भेजने की रिस्क नहीं ले सकते, स्कूल खाेलने काे सरकार और प्रबंधन तैयार लेकिन अभिभावक चिंता में

देवास11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 9 से 12वीं तक स्कूल शुरू करने की गाइडलाइन ताे जारी कर दी लेकिन पालक कर रहे इनकार

सरकार ने 21 सितंबर से 9 से 12वीं तक के स्कूलाें काे शुरू करने की गाइडलाइन जारी कर दी है। साथ ही स्कूल प्रबंधक व प्राचार्याें ने तैयारियां भी शुरू कर दी है लेकिन पालक अपने बच्चाें काे इस महामारी में संक्रमित हाेने के लिए भेजना नहीं चाहते हैं। वे ऑनलाइन पढ़ाई करवा कर उन्हें बीमारी से बचाना चाहते हैं। पालक ज्याेति बिहानिया का कहना है, मेरा बेटा उत्कृष्ट विद्यालय में कक्षा 12वीं में है। स्कूल पढ़ने के लिए नहीं भेजूंगी। बीमारी ऐसी चल रही है कि रिस्क नहीं ले सकती, वह घर पर रहेगा ताे सुरक्षित रहेगा। इसी तरह अन्य पालक भी राजी नहीं हाे रहे हैं।

सरकारी स्कूलाें में व्यवस्था
3 दिन 9वीं-10वीं, 3 दिन 11वीं-12वीं की कक्षाएं लगेंगी : उत्कृष्ट स्कूल प्राचार्य चंद्रावती जाधव ने बताया बच्चाें की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। हमारे स्कूल में बच्चाें की संख्या 9वीं व 12वीं तक 1 हजार है। एक साथ इतने बच्चाें काे कक्षाओं में बैठाकर हम पढ़ाई नहीं करवा सकते हैं। इसलिए हमने प्लानिंग की है कि स्कूल खुलेंगे ताे सप्ताह में पहले तीन दिन 9वीं से 10वीं तक के बच्चाें काे और अगले तीन दिन 11वीं व 12वीं के बच्चाें काे कक्षाओं में बैठाकर पढ़ाई करवाई जाएगी।

पालक लिखित में देंगे तभी आने दिया जाएगा
राधाबाई हायर सेकंडरी स्कूल प्राचार्य राजश्री काले ने बताया जब तक पालक लिखित में नहीं देंगे, तब तक बच्चियाें काे कक्षाओं में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

प्राइवेट स्कूलाें में यह तैयारी
सैनिटाइजर करने के लिए लगाई टनल, मशीनाें से भी करेंगे स्प्रे
सरदाना इंटरनेशनल स्कूल के संचालक ललित सरदाना ने बताया कक्षाएं लगना शुरू हाेगी ताे हम प्रत्येक कक्षा में दूरी बनाते हुए बच्चाें काे बैठाएंगे। स्कूल में कैंटिन की सुविधा बच्चाें के लिए नहीं रहेगी। पालकाें के कहने पर ही हम बच्चाें काे स्कूल में आने की अनुमति देंगे। स्कूल आने-जाने के लिए स्कूल बस की सुविधा नहीं रहेगी, पालकाें काे अपने वाहन से स्कूल लाना हाेगा। स्कूल में आते ही बच्चे सैनिटाइजर के टनल से गुजरेंगे, जिससे वह सैनिटाइज हाे सकें।

जिनके फाॅर्म जमा होंगे, वे ही स्कूल आ सकेंगे
सेनथाॅम स्कूल के संचालक सुनील थाॅमस के अनुसार हमने 9 से 12वीं तक के बच्चाें के पालकाें काे फार्म दे दिया है। फार्म जमा करने के बाद ही स्कूल में बच्चाें काे प्रवेश दिया जाएगा। स्कूल वाहन की सुविधा नहीं रहेगी, परिजन ही बच्चाें काे स्कूल लेकर आएंगे और लेकर जाएंगे। प्रत्येक कक्षाओं में बच्चाें की संख्या कम रहेगी। ऑनलाइन कक्षाएं प्रतिदिन समयानुसार चलती रहेगी।

पालकाें की चिंता

  • पालक शशि यादव का कहना है मैं अपनी बच्ची काे स्कूल पढ़ने के लिए नहीं भेजूंगी। बीमारी चल रही है।
  • मुखर्जी नगर में रहने वाली कृष्णा शर्मा का कहना है, मैं स्कूल खुलने के समर्थन में हूं, क्याेंकि ऑनलाइन पढ़ाई से बच्चाें काे फायदा नहीं हाे रहा है। कम से कम सप्ताह में 3 दिन स्कूल लगना चाहिए।

विद्यार्थियाें की उलझन

  • कक्षा 12वीं में पढ़ने वाले प्रद्युम्न शर्मा ने बताया- स्कूल जाऊंगा। ऑनलाइन पढ़ाई इतनी अच्छे से नहीं हाे रही है।
  • कक्षा 9वीं के छात्र दर्शन बिहानिया का कहना है- ऑनलाइन कक्षाएं लग रही हैं। डिजीलेप पर वीडियाे भी आ रहे हैं। माता-पिता ने स्कूल जाने से मना कर दिया है।
  • कक्षा 10वीं की कशिश यादव के अनुसार ऑनलाइन पढ़ाई चल रही है लेकिन विज्ञान विषय में समझ में नहीं आ रहा है। अच्छे से पढ़ाई हाे जाए ताे स्कूल नहीं जाना पड़ेगा। माता-पिता ने ताे इनकार कर दिया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें