पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कलेक्टर और सीएमएचओ काे आवेदन:टीकाकरण वैरिफायर में सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियाें की लगाई ड्यूटी, घटा वेतन

देवास10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले के उप स्वास्थ्य केंद्राें में 125 अधिकारियाें काे आ रही परेशानी

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत 5 हजार आबादी पर एक उप स्वास्थ्य केंद्र शुरू कर वहां संविदा पर सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी की पदस्थापना की है।

जिले में करीब 125 अधिकारियाें काे दाे साल में पदस्थ किया, जिनकी सेलरी 39 हजार से अधिक है, लेकिन पिछले तीन माह से अधिकारियाें की 15 हजार रुपए तक सेलरी कट रही, जिसका कारण टीकाकरण में वेरिफायर की ड्यूटी लगाना है। अधिकारी अपना मूल कार्य नहीं कर पा रहे, जिसके चलते उन्हे इंसेंटिव की राशि 15 हजार कटकर सैलरी दी जा रही है।

इसके विराेध में अधिकारियाें ने कलेक्टर चंद्रमाैली शुक्ला और सीएमएचओ डाॅ. एमपी शर्मा काे आवेदन दिया है। आवेदन में सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. अंकित शर्मा ने बताया, जब से टीकाकरण में हमारी ड्यूटी लगाई तभी से हमारी सैलरी कम हाे गई है। विभाग चाहे हमारी ड्यूटी साल भर के लिए लगाए, लेकिन सैलरी पूरी दी जाए। अगर सेलरी नहीं दे पा रहे हैं ताे हमें हमारे उप स्वास्थ्य केंद्र पर मरीजाें का उपचार करने दें।

केंद्र पर आने वाले टीबी, कैंसर, गर्भवती महिलाएं, बीपी, शुगर सहित 13 प्रकार के मरीजाें का उपचार हम प्रतिदिन करते हैं। इनका उपचार करने पर ही हमें 15 हजार सेलरी में जुड़कर हर माह मिल रहे थे, जाे तीन माह से कम हाे गए हैं। प्रदेश में करीब 7 हजार अधिकारियाें काे प्रतिमाह वेतन कम मिल रहा है।

खबरें और भी हैं...