समर्थन मूल्य / बारदान की कमी से समय पर नहीं तुल रही उपज, किसानाें ने घेरा एसडीएम कार्यालय

Due to shortage of gunny produce not getting on time, the farmers surrounded the SDM office
X
Due to shortage of gunny produce not getting on time, the farmers surrounded the SDM office

  • खरीदी केंद्रों पर अव्यवस्था, भूखे-प्यासे गेहूं तुलने का इंतजार

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 07:28 AM IST

देवास. समर्थन मूल्य पर की जा रही गेहूं खरीदी में कई अव्यवस्थाएं सामने अा रही है। अनुविभाग के 24 खरीदी केंद्रों पर हजारों किसान पांच दिन से बारदान के अभाव सहित अन्य अव्यवस्थाओं के चलते भूखे-प्यासे गेहूं तुलने का इंतजार कर रहे हैं। परेशान किसानों ने शनिवार को गेहूं तुलाई शीघ्र शुरू करवाने के लिए एसडीएम कार्यालय का घेराव कर दिया। किसान दरबारसिंह ओढ़नी, मेहरबानसिंह दांगी, संजय झाला, शमशेरसिंह का कहना था कि आज सैकड़ों किसान अपना गेहूं तुलाने के लिए भूखा-प्ंयासा घर-परिवार छोड़कर परेशान हो रहा है। केंद्र पर कार्य कर रहे अधिकारी-कर्मचारी सहित उच्चाधिकारियों को हमारी परेशानी की चिंता नहीं है। न ही किसी जनप्रतिनिधि ने हमारे लिए कोई आवाज उठाई। आवाज तो दूर किसी ने हाल-चाल जानने की कोशिश भी नहीं की। इधर एसडीएम अंकिता जैन ने आंदोलनकारी किसानों को शनिवार शाम तक बारदान मिलने के बाद समस्या हल होने की बात कही। 
हाईवे जाम करने जा रहे थे किसान, वरिष्ठाें ने राेक लिया
किसान शरीर जला देने वाली गर्मी में परेशान है। लॉकडाउन में सौदा पत्रक के अनुसार खरीदी में नुकसान झेल चुका है। क्योंकि उसे यहां फसल का उचित दाम नहीं मिला। पत्रक में व्यापारियों ने किसान से महज 1500 से 1700 रुपए प्रति क्विंटल तक ही गेहूं की खरीदी की। अब जब क्षेत्र में शासन द्वारा खरीदी केंद्र शुरू किए गए तो बारदान व अन्य समस्या से किसान जूझ रहा है। इन समस्याओं को लेकर परेशान किसान हाईवे व नगर की सड़क पर चक्काजाम करने जा रहे थे। लेकिन उपस्थित कुछ वरिष्ठों ने उन्हें समझाया कि अभी इस तरह का मौका नहीं है। चक्काजाम करने से समस्याओं का हल नहीं निकलेगा। 
26 से मंडी में शुरू हाेगी नीलामी
एसडीएम व भारसाधक अधिकारी अंकिता जैन ने बताया कि हाल ही में नगर के मंडी व्यापारियों के साथ हुई बैठक में लिए निर्णय के अनुसार 26 मई मंगलवार को मंडी में किसानों के अनाज नीलामी कार्य शुरू किया जाना है। इसके कारण संभवतः किसानों को राहत मिल सकेगी। इधर प्रशासन के लिए मंडी में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना चुनौती भरा हो सकता है। 
बारदान के अभाव में 5 केंद्राें पर अब तक शुरू नहीं हुई खरीदी
बड़े स्तर पर बारदान की समस्या बन गई है। शनिवार शाम तक अनुविभाग के केंद्रों पर बारदान मिलने की संभावना है। किसानों के भोजन व पेयजल की व्यवस्था की जा रही है। अनुविभाग में कुल 24 केंद्र खोले गए हैं। बारदान के अभाव के कारण पांच केंद्रों पर अब तक खरीदी कार्य शुरू नहीं किया गया।
अंकिता जैन, एसडीएम सोनकच्छ

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना