दुखद / देवास में गेहूं खरीदी केंद्र पर उपज लेकर पहुंचे किसान को दिल का दौरा पड़ा, इलाज के दौरान मौत

दोपहर में गांव से अंतिम यात्रा निकली। इसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। दोपहर में गांव से अंतिम यात्रा निकली। इसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।
X
दोपहर में गांव से अंतिम यात्रा निकली। इसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।दोपहर में गांव से अंतिम यात्रा निकली। इसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।

  • परिजन बोले- 80 क्विंटल गेहूं लेकर 29 मई को घर से निकले थे
  • 30 और 31 दो दिन लाइन में लगे, लेकिन उपज नहीं बेच पाए

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 04:18 PM IST

देवास. देवास में उपज बेचने उपार्जन केंद्र पहुंचे एक किसान की रविवार रात हार्टअटैक से मौत हो गई। पुलिस के अनुसार, ग्राम अमोना के किसान जयराम मंडलोई की मौत हुई है। वे ग्राम सिया के पास गेहूं खरीदी केंद्र पर गेहूं लेकर बेचने पहुंचे थे। जिला चिकित्सालय में पीएम के बाद उनके गांव अमोना में परिजन द्वारा दाह संस्कार किया गया। मृतक सरकारी नौकरी से रिटायर होने के बाद टोंकखुर्द के गांव अमोना में खेती कर रहे थे। ग्रामीणों का कहना है कि वे पिछले दो दिनों से गेहूं उपार्जन के लिए सिया के पास स्थित उपार्जन केंद्र में लाइन में लगे थे।

बेटा बोला- मेरा तो सबकुछ खत्म हो गया, अब किस पर आरोप लगाऊं

पुलिस ने बताया कि किसान को 29 मई को एसएमएस आया था। इसके बाद वे दो ट्रॉली गेहूं लेकर सिया के पास स्थित गोदाम में गेहूं उपार्जन के लिए गए थे। वहीं पर 31 मई को उन्हें सीने में दर्द हुआ, जिसके बाद अस्पताल में उनकी मौत हो गई। बेटे सचिन ने बताया कि ट्रॉली लेकर जो ड्राइवर आया था। उसने रात करीब 10 बजे कॉल कर बताया कि पिताजी को सीने में दर्द होने के बाद उन्हें जिला अस्पताल लेकर जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि उपार्जन केंद्र से मैसेज आने के बाद 29 मई को रात में उपज लेकर वे निकले थे। पिता ने आज गेहूं तुलने की बात कही थी। सचिन ने कहा कि कोराेना के कारण बहुत समस्याएं आ रही हैं। मेरे तो पिता चले गए, उनका साया मेरे सिर से उठ गया। मेरा तो सबकुछ खत्म हो गया। अब मैं किसी पर आरोप-प्रत्यारोप क्या करूं।

जयराम मंडलोई सरकारी नौकरी से रिटायर होने के बाद खेती कर रहे थे।

भाई बोले- 80 क्विंटल गेहूं लेकर दो दिन से लाइन में लगा था

भाई रामचंद्र मंडलोई ने बताया कि सूचना मिली थी कि भाई काे अटैक आया है। वे बात भी नहीं कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि गेहूं लेकर वे उपार्जन केंद्र पहुंचे थे, यहां 30 और 31 तारीख को लाइन में लगे, लेकिन उपज की बिक्री अब तक नहीं हुई। वे दो ट्रॉली में 80 क्विंटल गेहूं लेकर बेचने के लिए पहुंचे थे। उन्होंने कहा केंद्र में भीड़ अनाब-सनाब है। यदि टोकन व्यवस्था होती तो यह नहीं होता। बिना टोकन के अपनी-अपनी बारी के लिए लोग आपाधापी मचाए हुए हैं। 

भाई ने बताया कि उपार्जन केंद्र में बहुत अव्यवस्थाएं हैं।

किसान कल्याण योजना से आर्थिक मदद दी जा रही

प्रशासन के अनुसार आधार कार्ड में मृतक का पता उज्जैन निवासी अंकित है। उनका पंजीयन देवास के टोंकखुर्द उपार्जन केंद्र में था। 30 मई को इनकी उपज तुलाई के लिए मैसेज था। रविवार रात को इनकी अटैक से मौत हो गई। उन्होंने बताया कि कृषक कल्याण योजना के तहत 4 लाख रुपए सहायता राशि देने का प्रावधान है। पंचनामा फाइल बनाकर आगे की कार्रवाई के लिए भेजा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना