पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बढ़ा संक्रमण:कोराेना से बड़ा उसका खौफ, पिछले साल से इन दो माह में 129 ज्यादा मौतें हुई

देवास3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 1689 पॉजिटिव, 1431 ठीक हुए, स्वस्थ होने वाले कई गुना ज्यादा

(जाहिद खान) काेराेना की चपेट में आने से जिले में अब तक 23 लाेगाें की माैत हाे चुकी है, जाे शासन के रिकाॅर्ड में दर्ज है। इसके विपरीत मात्र अगस्त व सितंबर में माैत का आंकड़ा इतना बढ़
गया कि वर्ष 2019 के मुकाबले इस साल दाे महीने में 129 लाेगाें की मृत्यु ज्यादा हाे गई। लाेग काेराेना वायरस से कम उसके भय से ज्यादा बीमार हाे रहे हैं। वर्ष 2019 अगस्त-सितंबर में 367 और 2020 में
अगस्त-सितंबर में 496 लाेगाें की मृत्यु हुई।

मृत्यु प्रमाण-पत्र जारी करने वाले अधिकारियाें ने बताया हम प्रमाण-पत्र बनाते समय
परिजनाें से पूछते हैं कि मृतक काे क्या हुआ था। ज्यादातर लाेगाें का कहना है उन्हें हाई बीपी, हार्टअटैक, अचानक शुगर बढ़ने से मृत्यु हुई है। इससे एक बात ताे साफ है काेराेना वायरस का भय लाेगाें में बैठा है। कर्ई लाेग इसके भय से दिल की बीमारी के शिकार हाेकर काल के गाल में समा रहे हैं। जिला अस्पताल में मृत्यु का आंकड़ा देखा जाए ताे अस्पताल में अगस्त-सितंबर में प्रतिदिन 2-3 लाेगाें की मृत्यु हाे रही है।
नगर निगम जन्म-मृत्यु प्रमाण-पत्र शाखा में श्मशान और कब्रिस्तानाें से आने वाली
जानकारी के अनुसार प्रतिदिन 5-6 लाेगाें की माैत हाे रही है।
कुछ दिन पहले एक दिन में 13 लाेगाें की अलग-अलग बीमारियाें के चलते मृत्यु हुई थी, जिन्हें अंतिम संस्कार के लिए शहर के मुख्य श्मशान घाट में ले जाया गया ताे जगह नहीं मिली थी। श्मशान में एक साथ 12 लाेगाें का अंतिम संस्कार करने की जगह है। ऐसे में एक शव काे कुछ देर के लिए इंतजार करना पड़ा था।

अमलतास अस्पताल में मृतकाें की संख्या
अमलतास में दाे माह में 85 लाेगाें की हुई माैत
अमलतास अस्पताल के मृत्यु शाखा से मिली जानकारी के अनुसार दाे माह में करीब 85 लाेगाें की अलग-अलग बीमारियाें के चलते मृत्यु हुई है। इनमें कुछ मृत्यु काेराेना वायरस के चलते भी हुई है। अगस्त में 25 और सितंबर में सर्वाधिक 60 लाेग उपचार के दाैरान दम ताेड़ चुके हैं।

स्वस्थ हाेने पर भी करवाएं चैकअप
स्वस्थ हाेने के बाद भी आमजन काे अस्पताल में जाकर रूटीन चैकअप ताे जरूर करवाना चाहिए। चैकअप के दाैरान बीमारी पकड़ में आने से समय पर उपचार हाे जाता है। भारत स्वच्छता के साथ ही स्वास्थ्य विभाग का भारत स्वस्थ अभियान चल रहा है। इसमें शासकीय अस्पताल में मरीजाें का चैकअप किया जा रहा है।
- डाॅ. एमपी शर्मा, सीएमएचओ, जिला अस्पताल देवास

काेराेनाकाल में चिंता करने वाले चार गुना मरीज बढ़े
काेराेनाकाल में मानिसक चिंता वाले मरीजाें की संख्या बढ़कर चार गुना हाे गई है। बीमारी हाेना बड़ी बात नहीं बल्कि उस बीमारी की चिंता से माैत हाेती है। काेई भी बीमारी हाे ताे उसका भय नहीं पालें। आत्मविश्वास अच्छा हाेने से वह अच्छा हाे जाएगा।
- डाॅ. विजया सकपाल, मनाेचिकित्सक, जिला अस्पताल देवास

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser