पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Dewas
  • In Private Hospitals, The Entire Investigation Of Karenna Is Fixed At Rs 4980 But Taking Eight And A Half Thousand

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रायवेट हॉस्पिटलों की मनमानी:निजी अस्पतालाें में काेराेना की सारी जांच 4980 रुपए में तय लेकिन साढ़े 8 हजार ले रहे

देवास4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

काेराेना की दूसरी लहर ने कई घराें काे संक्रमित कर दिया है, जिससे लाेग परेशान हाेने लगे हैं। अगर किसी मरीज काे वायरस के लक्षण दिख रहे हैं और उसने उपचार से पहले प्रायवेट अस्पतालाें में टेस्ट करवाया ताे उसके साढ़े 8 हजार रु. से अधिक खर्च हाे जाएंगे।

यह टेस्ट जिला अस्पताल में करवाने पर मात्र 10 रु. की पर्ची बनाकर फ्री हाे जाएगा। काेविड का सामान्य मरीज निजी अस्पताल में उपचार करवाएगा ताे 50 हजार से 1 लाख तक का खर्च आएगा और अधिक संक्रमित मरीज के हाेने पर यह खर्च बढ़कर 3-5 लाख के पार हाे जाएगा।

प्रायवेट अस्पतालाें में भर्ती संदिग्ध और पाॅजिटिव मरीजाें के लिए डाॅक्टर रेमडेसिविर इंजेक्शन लिख रहे हैं। साथ ही कई मरीजाें का उपचार घर में भी चल रहा, जिनके लिए भी यह इंजेक्शन लिखा जा रहा है। इसलिए इसकी इतनी मांग बढ़ी कि लाेग कालाबाजारी करने लगे। 2500 रु. का इंजेक्शन बाजार में 5 से 6 हजार रु. में मिलने लगा।

इंजेक्शन की कालाबाजारी की शिकायत कलेक्टर चंद्रमाैली शुक्ला से की ताे उन्हाेंने बुधवार काे गाइड-लाइन तय करते हुए रेमडेसिविर इंजेक्शन 2500 रु. में मेडिकल पर मिलेगा। अगर किसी ने एक रु. भी ज्यादा ले लिया ताे उसका मेडिकल सील कर दिया जाएगा। इसके अलावा मरीजाें काे लगने वाला टाजूलाेमेक इंजेक्शन इसकी कीमत पर 34 हजार रु. तय की है, जाे बाजार में पहले 45 हजार रु. तक बिक रहा था।

4000 रुपए का रेमडेसिविर इंजेक्शन 2500 में और 40500 का टाजूलाेमेक इंजेक्शन 34000 में दे रहे

इंजेक्शन की मारामारी की हकीकत जानने के लिए भास्कर टीम शहर के कविता मेडिकल पर पहुंची। इस मेडिकल पर रेमडेसिविर इंजेक्शन मिल रहे हैं, जहां पर मरीजाें के अटेंडर इंजेक्शन लेने के लिए गुहार लगा रहे थे।

मेडिकल संचालक अशीष जखेटिया ने लाेगाें से कहा, कलेक्टर ने हमारी बैठक लेकर सख्त निर्देश दिए हैं कि मरीज की काेविड पाॅजिटिव रिपाेर्ट, आधार कार्ड और अस्पताल में भर्ती के दस्तावेज दिखाने पर ही इंजेक्शन दिया जाएगा। कुछ मरीजाें की फाइल लेकर पहुंचे, लेकिन उसमें काेविड रिपाेर्ट नहीं हाेने से इंजेक्शन नहीं दिए। मेडिकल संचालक ने कहा, सिपला कंपनी का इंजेक्शन हमारे यहां पर है।

गाइड-लाइन के अनुसार बुधवार से आए इंजेक्शन का लेखा-जाेखा रजिस्टर में रखने के साथ ही सिपला के पाेर्टल पर भी अपलाेड करना है। हम एक मरीज काे 2 से अधिक इंजेक्शन नहीं दे सकते। रेमडेसिविर की एमआरपी 4000 है, जिसे 2500 में दे रहे हैं। इसी तरह टाजूलाेमेक इंजेक्शन की एमआरपी 40500 है, जिसे गाइड-लाइन के तहत 34 हजार में दे रहे हैं।

सरकारी में आईसीयू फ्री, प्रायवेट में हजाराें रुपए रोज का खर्च आ रहा

सिविल सर्जन डाॅ. अतुल बिडवई व आरएमओ डाॅ. एमएएस गाैसर ने बताया, जिला अस्पताल में काेविड मरीजाें की सभी प्रकार की जांच से लेकर आईसीयू में भर्ती और दवाइयां तक फ्री दी जा रही है। सामान्य मरीज काे दवाई देकर हाेम क्वारेंटाइन किया जा रहा, जिसका फीडबैक ले रहे हैं।

जिला अस्पताल के काेविड आईसीयू के इंचार्ज डाॅ. शरद वीरपरा ने बताया- गाइडलाइन के अनुसार दवाई दी जा रही, जिसमें एजिथ्राेमाइसीन, आयवरमेक्टीन, विटामिन सी, डी व जींक, डेक्साेना इंजेक्शन, सिप्रासिलिनटेजाेबेक्टम आदि दवाइयां दी जा ही है। जल्द ही रेमडेसिविर इंजेक्शन भी अस्पताल में उपलब्ध होंगे। प्रायवेट अस्पतालाें में आईसीयू 4 हजार से लेकर 10500 रोज व प्रायवेट रूम 3000 से लेकर 15000 रोज के हिसाब से मिल रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

    और पढ़ें