पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Dewas
  • In The Famous Temple Of Nagda, Every Wish Of The Devotees Is Fulfilled, Devotees Come From Far And Wide To See Siddhi Vinayak Ganesh, The Special Abhishek, Worship, Makeup And Havan Is Being Done Every Day With Thousands Of Modaks.

गजानन के दर्शन को उमड़ रही भीड़:मन्नत लेकर श्री सिद्धी विनायक गणेश के दर्शन को आ रहे भक्त, सुबह से ही लगती है भक्तों की भीड़

देवास4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
श्री सिद्धी विनायक गणेश मंदिर। - Dainik Bhaskar
श्री सिद्धी विनायक गणेश मंदिर।

शहर से करीब 7 किलोमीटर दूर ग्राम नागदा में स्थित प्राचीन श्री सिद्धी विनायक गणेश मंदिर पर वैसे तो सालभर बुधवार के दिन भक्तों का तांता लगता है। लेकिन गणेश उत्सव के चलते रोजाना शहर सहित दूर-दूर से भगवान गणेश के भक्त अपनी मनोकामना लेकर गणेश मंदिर पहुंच रहे हैं। मान्यता है कि यहां जो भक्त यहां सच्चे मन से कोई मनोकामना मांगता है, वह जरूर पूरी होती है।

श्री सिद्धी विनायक गणेश मंदिर नागदा में नीलकंठेश्वर महादेव मंदिर के समीप है। जहां पर भगवान गणेश की दुर्लभ प्राचीन प्रतिमा विराजित है। यह प्रतिमा लगभग 5 हजार साल पुरानी है। कोरोना के बाद भी भक्तों की आस्था कम नहीं हुई है। भगवान श्री सिद्धिविनायक में प्रतिदिन पुजारी मनीष दुबे द्वारा विशेष अभिषेक, पूजन व श्रृंगार कर सहस्र मोदक से हवन किया जा रहा है।

इंदौर, उज्जैन, शाजापुर, देवास सहित बड़ी संख्या में प्रदेशभर से भक्तजन दर्शन करने पहुंच रहे हैं। मंदिर पर प्रतिदिन रात 8 बजे महा आरती होती है। अन्नत चतुरदशी को पूर्ण आहूति होगी और उसी दिन सुबह 9 बजे गुलाल महोसव का आयोजन के साथ श्री सिद्धी विनायक को 21 हजार लड्डूओं का भोग लगाया जाएगा। भगवान गणेश के दर्शन करने आई ममता मिश्रा ने बताया कि, नागदा स्थित अति प्राचीन गणेश मंदिर में मेरी मनोकामना पूरी हुई है। इसलिए भगवान को 56 भोग लगाया है।

बताया जाता है कि, यह गणेश भगवान की प्रतिमा प्राकृतिक रूप से प्रकट हुई है। राजा परीक्षित ने नागयज्ञ करके इस प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा की थी। इसके बाद से यहां मंदिर पर कई साधु संतों का जमावडा़ लगने लग गया और यहां पर कई साधु संतों ने तपस्या करके अनेक प्रकार की सिद्धियां प्राप्त कीं।

खबरें और भी हैं...