सम्मान समारोह:लाॅकडाउन में सेवाएं देने वाली संस्थाएं कार्यक्रम में नहीं बुलाने से नाराज

देवासएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नगर निगम ने लाॅकडाउन के दाैरान जरूरतमंदाें की मदद करने वाली संस्थाओं का सम्मान साेमवार काे एक कार्यक्रम आयाेजित कर किया था। यह कार्यक्रम विवादाें में घिर गया है। लाॅकडाउन में सेवाएं देने वाली कई संस्थाएं कार्यक्रम में नहीं बुलाए जाने से नाराज हैं। कुछ ने निगम आयुक्त विशालसिंह चाैहान काे पत्र लिख कर राेष भी जताया है। संस्था सार्थक के दीपेश कानूनगाे ने आराेप लगाया कि कार्यक्रम में एेसी संस्थाअाें का भी सम्मान कर दिया, जिन्हाेंने 8 दिन ही सेवा दी थीं, जबकि पूरे लाॅकडाउन में 3 महीने राशन, मास्क, दवाएं बांटने वाली हमारी संस्था काे दरकिनार कर दिया। भाग्योदय क्रिएटिव एक्टिविटी की मनीषा बापना ने मंगलवार काे निगमायुक्त चाैहान काे पत्र लिखकर पूछा कि जिन संस्थाओं को कोविड-19 में भोजन और अन्य व्यवस्थाओं के लिए सम्मानित किया, उनका चयन किस आधार पर किया है। हमारी संस्था ने कोरोना काल में 24 मार्च से 1 जून तक प्रतिदिन 1000 भोजन के पैकेट वितरित किए हैं लेकिन हमें अनदेखा किया गया है। इस तरह के रवैये से संस्था और कार्यकर्ताओं का मनोबल कमजोर होता है। नेशनल यूनिटी ग्रुप के अनिलसिंह ठाकुर का कहना है हम सम्मान के भूखे नहीं, मानव सेवा कर रहे हैं पर निगम प्रशासन द्वारा पक्षपात कर चहेती संस्थाओं का चयन कर उनका सम्मान करना सवाल खड़े करता है। 

खबरें और भी हैं...