शक्ति की आराधना:देवास टेकरी पर महानवमीं पर दो लाख से अिधक भक्तों ने किए दर्शन, खातेगांव में बेटियों ने मलखंभ का किया प्रदर्शन

देवास2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भक्तों की प्रार्थना, महामारी से समाज की रक्षा करना

नवरात्रि के नौवें दिन मां के नौवें रूप सिद्धिधात्री की पूजा की जाती है। यह देवी सर्वसिद्धियां प्रदान करने वाली होती है। टेकरी पर भक्तों ने महामारी से दूर रखने की प्रार्थना की। वहीं खातेगांव में मां रूपेण बेटियां ने सालों साल की सिद्धी का प्रदर्शन किया। उनकी यह सिद्धि आत्मरक्षा करने सहित जीवन भर मनोबल ऊंचा रखने में अहम भूमिका अदा करेगी।

माता टेकरी पर मां अपनी गाेद में छाेटे-छाेटे बच्चाें काे ताे पिता बड़े बच्चाें काे कांधे पर उठाकर मां चामुंडा और तुलजा भवानी के दरबार में 9 दिनांे तक ही पहुंचे। इस बार काेराेना से राहत मिलते ही दर्शनार्थियाें ने मन में मन्नत लिए मां के दर्शन किए।

दर्शन के दाैरान कई श्रद्धालुओं ने मां से एक ही विनती की मां महामारी से सभी काे बचाना, बहुत बुरे दिन देखे हैं। नवरात्रि के अंतिम दिन गुरुवार काे नवमी पर लाेग सुबह, दाेपहर और रात में भी बड़ी संख्या में दर्शन के लिए पहुंचे।

रात 8 बजे बाद टेकरी पर फिर से भीड़ बढ़ी, लेकिन शहर के मार्गाें काे डायवर्ड करने की जरूरत नहीं पड़ी, क्याेंकि अगले दिन शुक्रवार काे दशहरा पर्व हाेने से बाहर के श्रद्धालुओं की संख्या कम रही। सप्तमी और अष्टमी पर भारी भीड़ हाेने की जानकारी मिलने पर देवास के आसपास के ग्रामाें से नवमीं पर भक्त परिवार के साथ दर्शन के लिए टेकरी अाए। अंतिम दिन मां के दर्शन से काेई भी वंचित नहीं रहना चाहता है। सुबह व शाम काे हाेने वाली आरती में आखिरी दिन बड़ी संख्या में लाेग पहुंचे और आरती ली गई।

खबरें और भी हैं...