मिलावट से मुक्ति अभियान:319 सैंपल में से 54 अमानक स्तर के निकले, डी-मार्ट पर 2.25 लाख रुपए का जुर्माना

देवासएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 11 माह से चल रहे अभियान के तहत चलित माेबाइल लैब व देवास टीम ने लिए सैंपल

खाद्य एवं औषधि विभाग ने बाजार में लाेगाें काे शुद्ध खाद्य सामग्री मिले इसके लिए 11 माह पहले 9 नवंबर 2020 काे मिलावट से मुक्ति अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के तहत अब तक 319 विभिन्न खाद्य सामग्री के सैंपल लिए हैं।

इनमें से 54 सैंपल अमानक स्तर और मिथ्या छाप के निकले हैं। अमानक स्तर और मिथ्याछाप वालाें के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 26 लाख 15 हजार रुपए का जुर्माना किया गया है। साथ ही 3 मामले काेर्ट में भी भेजे हैं, जिन पर सुनवाई चल रही है।

खाद्य एवं औषधि विभाग के अधिकारी सूरेंद्र ठाकुर ने बताया, अभियान के तहत हमारी टीम शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्राें में दूध, दही, मट्ठा, मावा, घी, खाद्य तेल, पैकिंग सामग्री, मिठाइयों सहित अन्य सामग्रियाें के सैंपल लिए गए।

चलित माेबाइल लैब से घर-घर और दूध डेयरियाें पर दूध वितरण करने वालाें के सैंपल लेकर तत्काल रिपाेर्ट आने पर उन्हें सही दूध लाने की हिदायत देकर छाेड़ दिया था। दूध सैंपल में पानी की मात्रा अधिक मिली थी, मिलावटी दूध सामने नहीं आया था। वहीं दुकानाें पर जाकर लिए सैंपलाें काे जांच के लिए भाेपाल भेजा था, जहां से समय-समय पर रिपाेर्ट आई और 54 सैंपल अमानक स्तर और मिथ्या छाप के निकले हैं।

सिलावटी का निकला मिलावटी दूध, 45 हजार का जुर्माना

ग्राम सिलावटी में जिला प्रशासन की टीम के साथ अमानक स्तर के दूध की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए सैंपल लिए थे। सैंपल जांच में अमानक स्तर के पाए गए, जिस पर अरबाज व अन्य के खिलाफ 45 हजार रुपए का जुर्माना किया गया।

मिलावटी दूध निकला, काेर्ट में भेजा केस

ठाकुर ने बताया, टीम ने इटावा क्षेत्र में रहने वाले राकेश गिरी गाेस्वामी के पास से दूध के सैंपल लिए थे। भाेपाल में जांच के बाद दूध मिलावटी मिलने पर मामला आगे की कार्रवाई के लिए काेर्ट में भेजा गया है। गाेस्वामी के खिलाफ अब काेर्ट ही फैसला करेगा। इनके अलावा 2 अन्य सैंपल में मिलावट मिलने से वह भी काेर्ट में चल रहे हैं।

डी-मार्ट काे 2.25 लाख का जुर्माना
ठाकुर के अनुसार डी-मार्ट पर खाद्य सामग्री की शिकायत मिलने पर टीम ने पिछले दिनाें कार्रवाई कर मिक्स गुलाब जामुन, पपड़ी के सैंपल लिए थे। जांच के बाद मिथ्याछाप निकलने पर इनके खिलाफ आगे से 2.25 लाख रुपए का जुर्माना किया गया है। टीम लगातार माॅलाें के खिलाफ कार्रवाई करती रहेगी।



खबरें और भी हैं...