पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेमडेसिविर की कालाबाजारी:रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाले गिराेह के सरगना लाेकेंद्र पर लगेगी रासुका, आज जारी हाेंगे आदेश

देवासएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जुड़ती जा रही कड़ियां... लाेकेंद्र के बाद अब नया नाम सामने अाया वीरेंद्र
  • एसपी बाेले-भूमिका के आधार पर अन्य लाेगाें पर भी लगेगी रासुका

काेराेना महामारी में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले गिराेह के सरगना लाेकेंद्र पर पुलिस ने रासुका लगाने की तैयारी कर ली है। इसे लेकर शनिवार काे कलेक्टर चंद्रमाैली शुक्ला आदेश जारी कर सकते हैं। एसपी डाॅ. शिवदयाल सिंह के मुताबिक लाेकेंद्र पर ताे रासुका लगना तय है, हमनें प्रस्तावित कर दिया है। शनिवार काे कलेक्टर आदेश जारी कर सकते हैं। एसपी ने यह भी कहा है कि लाेकेंद्र के अलावा अन्य पर भी रासुका लग सकती है, हालांकि इसमें किस की कितनी और किस स्तर की भूमिका है, यह जांच की जा रही है, जांच के बाद भूमिका के आधार पर रासुका लगाई जाएगी।

इधर, खुद काे एमजीएच का डाॅक्टर बताने वाले लाेकेंद्र से कड़ी पूछताछ के बाद एक नया नाम वीरेंद्र का सामने आया है, जाेकि अमलतास में काम करता है, काेतवाली पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया है। काेतवाली टीआई उमराव सिंह के मुताबिक कड़ी पूछताछ के बाद लाेकेंद्र ने कई राज उगले हैं, जिन पर जांच की जा रही है। दाे नर्साें के नाम भी सामने आए हैं। एक युवक वीरेंद्र पिता विक्रम सिंह पंवार उम्र 21 साल निवासी न्यू हाउसिंग बाेर्ड काॅलाेनी देवास, जिसकाे भी गिरफ्तार कर लिया है। इसने नर्साें से इंजेक्शन लेकर लाेकेंद्र और अंकित काे दिलवाए हैं। अभी इससे पूछताछ की जा रही है और भी कुछ नाम सामने आए हैं, जिनकी जल्दी गिरफ्तारी की जाएगी।

नर्साें से 14-14 हजार रुपए में वीरेंद्र से खरीदे थे इंजेक्शन
टीआई सिंह के मुताबिक वीरेंद्र ने बताया है कि उसने नर्साें से दाे इंजेक्शन 14-14 हजार में खरीदे और 16 से 17 हजार में लाेकेंद्र और अंकित काे उपलब्ध करवाए। बताया जा रहा है कि फिर लाेकेंद्र और अंकित ने यह इंजेक्शन जरूरतमंदाें काे 22-22 हजार में बेचे हैं।

टीआई बाेले-अभी लिंक लंबी है कई नाम आ सकते हैं सामने
बता दें कि काेराेना महामारी के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले इस गिराेह में अभी सिर्फ पांच नाम ही सामने आए हैं। टीआई सिंह ने बताया कि पूछताछ के बाद अभी और कई के नाम सामने आ सकते हैं, बहुत जल्दी हम सभी काे गिरफ्तार कर लेंगे।

जानिए..कैसे खुलती गई कड़ियां...2 मई काे किया था पुलिस ने स्टिंग, तब धराए थे
2 मई काे पुलिस काे मुखबिर से सूचना मिली थी कि एक लड़की 27 हजार में रेमडेसिविर बेच रही है। काेतवाली टीआई के मुताबिक हमने मुखबिर से कहा था कि वह उस लड़की काे किसी बैंक के एटीएम पर यह कहकर बुला ले कि एटीएम से पैसे निकालकर दे देंगे, पर लड़की ने मना करते हुए मुखबिर से यह कह दिया था कि नहीं पैसे ताे नकद ही लेगी।

तब पुलिस ने खुद मरीज का अटेंडर बनकर नर्स पूजा और अंकित से इंजेक्शन खरीदे और दाेनाें काे रंगे हाथाें गिरफ्तार किया। फिर इन दाेनाें से पूछताछ के बाद रुद्र का नाम सामने आया। इसके बाद पूजा और रुद्र काे ताे जेल भेज दिया पर अंकित काे पुलिस ने एक दिन के रिमांड पर और रखा, उससे जब पूछताछ की गई ताे लाेकेंद्र का नाम सामने आया, लाेकेंद्र काे पुलिस ने गिरफ्तार किया ताे वीरेंद्र का नाम सामने आया, अब वीरेंद्र की गिरफ्तारी के बाद दाे नर्साें के नाम सामने आए हैं, जिनकी गिरफ्तारी हाेना है।

खबरें और भी हैं...