पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भगवती विहार का मामला:रहने वालाें का पानी किया बंद, लाेगाें ने दो दिन में सात बाेरिंग कराए

देवास20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नए बाेरिंग में माेटर उतारने की तैयारी करते कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
नए बाेरिंग में माेटर उतारने की तैयारी करते कर्मचारी।
  • स्ट्रीट लाइट बंद की ताे सभी ने अपने-अपने घराें के सामने लगाए एलईडी बल्ब

एमआर 10 बीमा अस्पताल राेड से अंदर काॅलाेनाइजर ने भगतवति विहार काॅलाेनी डेवलप की, जहां पर बिजली और पानी की व्यवस्था भी की गई थी। 6 दिन पहले 60-70 हजार रुपए बकाया राशि हाेने पर काॅलाेनी में वितरित हाेने वाले पानी काे बंद कर दिया और स्ट्रीट लाइट भी काट दी।

रहवासियाें ने इसका विराेध किया ताे बताया था, सभी काे राशि जमा करना है, इसलिए प्रत्येक घर से 1400-1400 रुपए जमा कर दाे ताे पानी और बिजली चालू कर दी जाएगी। पैसा नहीं देते हुए रहवासियाें ने 2 दिन में 7 घराें में बाेरिंग लगा दिए, जिससे 42 घराें में पानी की व्यवस्था हाे जाएगी। घराें के सामने एलईडी बल्ब लगाकर सड़कें राेशन कर दी, इस तरह फिलहाल समस्या खत्म हाे गई।

दरअसल काॅलाेनी में मकान बनने के बाद काॅलाेनाइजर ने एक समिति गठित कर काॅलाेनी के काम-काज उसके सुपुर्द कर दिए, जिन्हाेंने पिछले दिनाें राशि जमा करने के लिए घर-घर संपर्क किया था, नहीं ताे नल व बिजली बंद हाे जाएगी। काॅलाेनी में रहने वाले वीरेंद्रसिंह, संताेष व सुनील के अनुसार काॅलाेनी में रहते हुए करीब ढाई साल हाे गए हैं।

प्रतिमाह हम 300 रु. पानी और बिजली के नाम पर देते थे, लेकिन बंद कर दिया ताे हमने बाेरिंग लगा लिए और एक बाेरिंग 6-7 घराें में पानी देंगे। यहां मकान खरीदे थे, उस समय नर्मदा लाइन का पानी देने का भी वादा किया था, किंतु अभी तक पानी नहीं आ सका है।

6 दिन से पानी बंद रहने से टैंकर और पास की काॅलाेनी वालाें के यहां पानी लेकर आना पड़ रहा था। काॅलाेनी में 90 से अधिक मकान बने हैं, जिनमें कुछ ने शुरुआत में ही बाेरिंग करवा लिए थे।

खबरें और भी हैं...