पूर्व मंत्री वर्मा का आराेप:कहा-कंपनी के कर्मचारी वसूली के नाम पर उपभाेक्ताओं से कर रहे अभद्र व्यवहार

देवास3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिजली बिलाें में अनियमितताओं काे लेकर कांग्रेस ने किया जंगी प्रदर्शन। - Dainik Bhaskar
बिजली बिलाें में अनियमितताओं काे लेकर कांग्रेस ने किया जंगी प्रदर्शन।

बढ़े हुए बिजली बिलों में एवं कंपनी में हो रही अनियमितताओं के विरोध में जिला (शहर) कांग्रेस कमेटी ने पूर्व मंत्री एवं विधायक सज्जन सिंह वर्मा के नेतृत्व में शनिवार को बिजली कार्यालय पर जंगी प्रदर्शन करने की एक दिन पूर्व घाेषणा कर दी थी। इसको लेकर पुलिस प्रशासन ने भी बिजली कंपनी कार्यालय के मेन गेट पर बैरिकेड्स लगाकर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात हो गया था, जिससे पुलिस और कांग्रेस नेताओं में जमकर जोर
आजमाइश चली।
प्रदर्शन पूर्व मंत्री विधायक सज्जन वर्मा के नेतृत्व में हुआ। सबसे पहले कांग्रेस नेता कार्यकर्ता आईसीएच पर एकत्रित हुए इसके बाद नारेबाजी करते हुए हाथों में झंडा लिए बिजली कंपनी के कार्यालय पहुंचे। जैसे ही कंपनी के गेट पर पहुंचे कार्यकर्ताओं ने जोश दिखाते हुए बैरिकेड्स पर चढ़कर कार्यालय में पहुंचने का प्रयास किया, पर पुलिस ने किसी को भी अंदर नहीं जाने दिया इसको लेकर करीब 20 मिनट पुलिस और कांग्रेस नेताओं में जमकर जोर आजमाइश चली।

कार्यालय के बाहर पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने संबोधित करते कहा प्रदेश कि भाजपा सरकार कोरोना महामारी के समय में ही गरीब उपभोक्ताओं को मनमाने बिजली बिल देकर प्रताड़ित कर रही है। भाजपा शासन द्वारा बिल माफ करने का झूठा आश्वासन देकर पुराने बिल केवल स्थगित किए गए थे, जिनकी वसूली के लिए आज तक उपभोक्ताओं को परेशान किया जा रहा है।

बिल न जमा करने पर घर के कनेक्शनों को भी काटा जा रहा है। विभाग के कर्मचारी बिल वसूली के नाम पर आम जनता के साथ अभद्र व्यवहार कर रहे हैं। बिना रीडिंग और कंपनी की अनियमितताओं के कारण गलत बिल दिए जा रहे हैं। जिसके कारण मध्यमवर्गीय परिवार को गलत बिल जमा करने पर मजबूर होना पड़ रहा है।

गरीब उपभाेक्ताओं काे लूटा जा रहा है : वर्मा ने कहा कि कांग्रेस शासनकाल में इंदिरा गृह ज्योति योजना के अंतर्गत 100 यूनिट की खपत के लिए 100 रुपए के बिल दिए जाते थे। इस योजना से प्रदेश के लगभग 90 प्रतिशत उपभोक्ता लाभान्वित हुए थे। लेकिन वर्तमान शासन द्वारा बिजली बिलों को हथियार बनाकर गरीब उपभोक्ता को लूटा जा रहा है।

प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस शासनकाल में कहा था कि बिजली विभाग वालों को कनेक्शन काटने नहीं देना, यदि किसी की बिजली कट जाए तो मैं आकर उसे जोड़ दूंगा। अब उन्हीं के शासनकाल में कनेक्शन काटकर अपमानित किया जा रहा है।

ये नेता रहे माैजूद
वरिष्ठ कांग्रेस नेता शौकत हुसैन, पं. जयप्रकाश शास्त्री, जयसिंह ठाकुर, पूर्व महापौर रेखा वर्मा .भगवान सिंह चावड़ा, जिलाध्यक्ष अशोक पटेल कप्तान, दीपेश कानूनगो, ज़ाकिर उल्ला शेख, संतोष मोदी, एजाज शेख निलम, सूरज सिंह चावडा, चंद्रपाल सिंह सोलंकी, ज्ञानसिंह दरबार, रश्मि मिश्रा, विक्रम सिंह मुकाती, रोहित शर्मा, राहुल पंवार, प्रहलाद मिस्त्री, जितेन्द्र सिंह मोंटू, सूरज सिंह चावड़ा, ज्ञान सिंह दरबार, राधाकिशन सोलंकी, प्रदीप चौधरी, विक्रम पटेल, दिग्विजय सिंह झाला, रश्मि शर्मा, साधना प्रजापति मालवीय, मनोज हैतावल आदि कांग्रेसजन उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...