पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना संक्रमण:औद्याेगिक क्षेत्र में दूसरा ऑक्सीजन प्लांट भी शुरू

देवास18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीन दिन से चल रहा इंस्टालेशन का कार्य

काेराेना की दूसरी लहर के दाैरान फेल रहे संक्रमण के बीच औद्याेगिक क्षेत्र में नया काेविड केयर सेंटर उद्याेग वालाें की मदद से तैयार हाेकर पहला ऑक्सीजन प्लांट भी चालू हाे गया था। बेड अधिक हाेने से अगर मरीजाें की संख्या बढ़ी ताे एक प्लांट कम पड़ेगा, इसलिए दूसरा ऑक्सीजन प्लांट सनफार्मा कंपनी की मदद से इंस्टाल कर चालू कर दिया गया है।

इधर जिला अस्पताल में एक माह पहले ऑक्सीजन प्लांट काे 12 दिन में चालू करने का दावा किया था, जाे अभी तक भी चालू नहीं हाे सका है। इसे कहते हैं सरकारी तंत्र, जहां किसी भी प्रकार का काम आसानी से और जल्द शुरू नहीं हाे पाता है। रविवार काे भी जिला अस्पताल में एक प्लांट के इंस्टालेशन का काम चलता रहा। पूर्व भाजपा महामंत्री राजेश यादव प्लांट के इंस्टालेशन के कार्य काे देख रहे हैं। उन्हाेंने बताया, पिछले तीन दिन से अहमदाबाद से आए इंजीनियर हर्षीद भाई अपनी टीम के साथ लगे हुए हैं।

रविवार काे इंस्टालेशन का काम पूरा हाेने के बाद जब विद्युत कनेक्शन का नंबर आया ताे देखा कि उसमें 50 एमएम की केबल लगी है, जाे प्लांट काे चालू हाेने के बाद जलने की संभावना है। इस केबल काे निकालकर 95 एमएम की केबल लगाई जाना है, जाे इंदाैर में मिलेगी।

साेमवार काे इंदाैर से केबल मंगवाकर लगाई जाएगी। सीएमएचओ एमपी शर्मा का कहना है कि काम अंतिम चरणाें में चल रहा है संभवत: दाे दिन में ऑक्सीजन उत्पादन शुरू हाेने लगेगा। तीन अन्य प्लांट भी हाेना है चालू : जिला अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई प्रभावित नहीं हाे इसके लिए कुल 4 प्लांट तैयार हाेना है, लेकिन पहले प्लांट काे चालू करने में सरकारी तंत्र काे एक माह से अधिक का समय लग गया है।

जबकि यह प्लांट काेराेना की दूसरी लहर में अधिक संक्रमण के दाैरान चालू करने के प्रयास किए जा रहे थे। अगर इसी तरह से काम चलता रहा ताे तीन अन्य प्लांट काे चालू करने में तीसरी लहर भी आकर चली जाएगी तब चालू हाे सकेंगे। दूसरे प्लांट का टीन शेड भी तैयार है, जहां मशीनाें का इंतजार है।

खबरें और भी हैं...