पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समर्थन मूल्य:पहले कर्मचारियाें की हड़ताल अब सर्वर डाउन की समस्या, 20 से 25 % किसान अभी भी नहीं करवा पाए पंजीयन

देवास10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • किसान बाेले-तीन-चार दिन चक्कर काटने के बाद भी नहीं हाे रहे पंजीयन

शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए किए जा रहे पंजीयन की अंतिम तारीख 25 फरवरी है। इधर पिछले वर्ष हुए पंजीयन के हिसाब से देखा जाए तो अभी भी 20 से 25% किसानों के पंजीयन ही नहीं हो पाए हैं। इसका मुख्य कारण पहले साेसायटी कर्मचारियाें की हड़ताल और अब सर्वर डाउन हाेना है।

किसान सुबह से ही पंजीयन केंद्र पर पहुंच जाते हैं, सर्वर डाउन हाेने से दिनभर इंतजार के बाद घर लाैट जाते हैं। कई किसान ताे ऐसे हैं जाे तीन से चार दिन से लगातार चक्कर काट रहे हैं। किसानाें ने पंजीयन की तारीख बढ़ाने की मांग की है।

पंजीयन में लग जाता है एक घंटे से ज्यादा समय

पुंजापुरा. पुंजापुरा और चंदूपुरा सोसायटी में अब तक 584 किसानों के ही पंजीयन हो पाए हैं। नए पंजीयन में कभी 15 मिनट तो कभी सर्वर डाउन होने के कारण 1 घंटे से ज्यादा समय भी लग जाता है।

डिगाेद के किसानाें काे जाना पड़ रहा कमलापुर

इधर पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष सेवा सहकारी संस्था मातमोर एवं सेवा सहकारी संस्था डिगोद के खरीदी केंद्र बंद कर देने के कारण डिगाेद संस्था अंतर्गत आने वाले किसानों के पंजीयन कमलापुर में हो रहे हैं। जबकि मातमोर संस्था के अंतर्गत आने वाले किसानों के पंजीयन सेवा सहकारी संस्था चापड़ा में किए जा रहे हैं।

बार-बार सर्वर डाउन हाेने से दिक्कत आ रही है

शाखा की पांचाें साेसायटियाें में पंजीयन कार्य चल रहा है। कर्मचारी भी लगे हुए हैं, लेकिन बार-बार सर्वर डाउन हाेने से पंजीयन नहीं हाे पा रहे हैं। निर्धारित तारीख में सभी किसानाें के पंजीयन करने के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं।

-लक्ष्मीनारायण मिश्रा, प्रबंधक, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक शाखा बागली

बागली : पंजीयन कराने के चक्कर में फसल कटाई कार्य भी हाे रहा प्रभावित

बागली | जिला सहकारी केंद्रीय बैंक शाखा बागली अंतर्गत आने वाली आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था बागली में अब तक 817 किसानाें के पंजीयन हुए हैं।

इसी तरह सेवा सहकारी संस्था बेहरी में 46, सेवा सहकारी संस्था चापड़ा में 974, उन्नत सहकारी संस्था आगुर्ली में 410 एवं आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था कमलापुर में 340 किसानाें के पंजीयन हुए हैं। इस तरह इन पांच साेसायटियाें में साेमवार तक कुल 2587 किसान पंजीयन करवा चुके हैं। चापड़ा के किसान शंकरलाल यादव ने बताया कि पंजीयन के लिए तीन-चार दिन से लगातार साेसायटी के चक्कर काट रहा हूं, लेकिन सर्वर डाउन हाेने से पंजीयन नहीं हाे पा रहा है।

आगुर्ली के किसान बलवानसिंह पटेल बताते हैं कि तीन दिन से लगातार गया तब जाकर पंजीयन हुआ है। चापड़ा के किसान ओमप्रकाश यादव ने बताया कि एक ओर ताे फसल कटाई का समय है और दूसरी और पंजीयन के लिए भटकना पड़ रहा है। चार-पांच दिन से चक्कर लगा रहा हूं, लेकिन पंजीयन नहीं हाे पाया है। ऐसे में न ताे फसल कटाई कर पा रहे हैं और न ही पंजीयन हाे रहा है।

कई किसान तीन से चार दिन से लगा रहे हैं चक्कर

कुसमानिया. सेवा सहकारी संस्था कुसमानिया में अब तक संस्था में 497 किसान पंजीयन करवा चुके हैं। इधर साेमवार काे पंजीयन करवाने पहुंचे किसान बाबूलाल परमार, दिनेश प्रजापत, हरिओम यादव, नयन जाट आदि ने बताया कि 3 से 4 दिन से चक्कर लगा रहे हैं। इधर ऑपरेटर सुनील परमार ने बताया कि सर्वर डाउन के चलते दिक्कत आ रही है। विक्रमपुर सेवा सहकारी संस्था में पिछले वर्ष करीब 550 किसानों का पंजीयन हुआ था। सोमवार तक संस्था व अन्य बाहर क्योस्क, मोबाइल आदि के मिलाकर करीब 350 किसानों के पंजीयन हुए हैं।

पंजीयन कराने 10 किमी दूर जा रहे किसान

गंधर्वपुरी. गंधर्वपुरी सहित आसपास के गांव देहरी, कराड़िया, गुराड़िया, लोंदिया, बैराखेड़ी, खेरिया आदि के हजारों किसानों के पंजीयन अभी भी नहीं हो पाए हैं। पिछले वर्ष साेसायटी में पंजीयन केंद्र था, लेकिन इस वर्ष केंद्र नहीं बनाने के कारण किसानाें काे 13 किमी दूर दाैलतपुर या फिर 10 किमी साेनकच्छ जाना पड़ रहा है।

यहां भी दिनभर लाइन में लगने के बाद एक से दाे किसान के पंजीयन हाे पाते हैं। किसान राजेश चौधरी ने बताया कि तीन दिन से खेती के काम छोड़कर रोजाना सोनकच्छ जा रहा हूं, लेकिन अब तक पंजीयन नहीं हो पाया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें