पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खत्म हाेगा प्राणवायु का संकट:ऑक्सीजन प्लांट चालू करने गाजियाबाद से आई टीम, एक दिन में 120 सिलेंडर ऑक्सीजन के भरे जा सकेंगे

देवासएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
औद्योगिक क्षेत्र में 250 पलंग का वातानुकूलित कोविड केयर सेंटर बनकर तैयार। - Dainik Bhaskar
औद्योगिक क्षेत्र में 250 पलंग का वातानुकूलित कोविड केयर सेंटर बनकर तैयार।
  • औद्योगिक क्षेत्र में 250 पलंग का वातानुकूलित कोविड केयर सेंटर बनकर तैयार

औद्याेगिक क्षेत्र क्रमांक एक में इप्का कंपनी के परिसर में काेविड केयर सेंटर बनकर तैयार हाे गया है। यहां के ऑक्सीजन प्लांट का भी ट्राॅयल लिया जा चुका है। गाजियाबाद से आई टीम द्वारा इसका फाइनल ट्राॅयल लेने के बाद बताया कि प्लांट से राेजाना इतनी ऑक्सीजन तैयार हाेगी कि ऑक्सीजन के 120 सिलेंडर राेज भरे जा सकेंगे। यह काेविड केयर सेंटर संभवत: 10 मई से शुरू हाे जाएगा।

कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जिला प्रशासन, नगर निगम एवं इप्का लैबोरेट्रीज लिमिटेड द्वारा शहर के औद्योगिक क्षेत्र में 250 पलंग का वातानुकूलित कोविड-19 सेंटर का युद्ध स्तर पर कार्य चल रहा है। जिसमें करीब 70 लोग काम कर रहे हैं। हर डिपार्टमेंट के अलग-अलग लोग अलग-अलग कार्य में लगे हुए हैं। इलेक्ट्रीशियन इलेक्ट्रिक का काम कर रहे हैं। वाॅटर प्लांट वाले आरओ वाटर का काम कर रहे हैं।

ऑक्सीजन प्लांट लग गया है।
ऑक्सीजन प्लांट लग गया है।

शीघ्र काम निपटाने के निर्देश
ऑक्सीजन प्लांट का कार्य गाजियाबाद से आई टीम कर रही है। 80 प्रतिशत कार्य हो गया है। 10 अप्रैल से जिला प्रशासन द्वारा वातानुकूलित कोविड सेंटर की सेवाएं प्रारंभ कर दी जाएगी। जिले की प्रभारी मंत्री उषा ठाकुर ने कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला, निगमायुक्त विशाल सिंह चौहान एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ निरीक्षण कर शीघ्र काम निपटाने के दिशा निर्देश दिए हैं।

24 घंटे चालू रहेगा प्लांट
सेम गैस प्रोजेक्ट गाजियाबाद से ऑक्सीजन प्लांट तैयार करने आए टीम के इंजीनियर महेंद्र कुमार ने बताया एक दिन में 120 आॅक्सीजन गैस सिलेंडर मिलेंगे। हमारा प्लांट बनकर तैयार हो गया और ट्राॅयल के लिए चालू भी कर दिया गया है। हमारे टेक्निकल व्यक्ति की मौजूदगी में 24 घंटे प्लांट चलेगा।

100 पंलग पर रहेगी अाॅक्सीजन की सुविधा
इप्का लैबोरेटरी लिमिटेड के सतीश उपाध्याय ने बताया कोविड सेंटर का कार्य लगभग अंतिम चरण में है। 250 पलंग के क्षमता वाले सेंटर में 100 पर ऑक्सीजन का कनेक्शन दिया गया है। डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ के साथ ही अन्य के लिए पंजीयन काउंटर पर कैबिन तैयार किया गया है।

दिनभर चल रहा काम, मजदूर रात में 12 बजे खा रहे खाना
इलेक्ट्रिक से संबंधित कार्य कर रहे इलेक्ट्रिशियन रविंद्र मौर्य, राहुल माहेश्वरी ने बताया हम करीब 20 लोग इंदौर से दो बड़े वाहनों के माध्यम से आते हैं हमारे अधिकारी शैलेंद्र पाठक इंजीनियर की मौजूदगी में देर रात तक काम करते हैं। हम लोग अभी भोजन भी समय से नहीं कर पा रहे हैं। सुबह का भोजन शाम पांच बजे और शाम का भोजन रात 12 बजे घर पहुंचने पर होता है। हमारा प्रयास है जल्द से जल्द कार्य हो और लोगों को जल्दी सेवाएं मिलें।

काेविड केयर सेंटर में सुविधाएं एक नजर में

  • काेविड केयर सेंटर औद्याेगिक क्षेत्र क्रमांक एक
  • 10 मई से हाेगा शुरू
  • ऑक्सीजन प्लांट में 120 सिलेंडर गैस राेजाना तैयार हाेगी
  • 100 पलंग पर रहेंगी अत्याधुनिक सुविधाएं।
  • मरीजाें के पंजीयन के लिए अलग से बनाया जाएगा सेंटर
  • मरीजाें और अटेंडरों काे मिलेगा आरओ का पानी
  • वाहन पार्किंग की सुविधा भी रहेगी।
खबरें और भी हैं...