• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Dewas
  • The Family Members Accused The De addiction Center Of Assault, Said His Condition Was Fine While Getting Admitted

युवक की संदिग्ध परिस्थिति में मौत:परिवार वालों ने लगाया नशामुक्ति केंद्र पर मारपीट का आरोप, बोले - भर्ती करवाते समय उसकी हालत ठीक थी

देवासएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मां पूनम ने अस्पताल प्रबंधन पर कई आरोप लगाए हैं। - Dainik Bhaskar
मां पूनम ने अस्पताल प्रबंधन पर कई आरोप लगाए हैं।

नशामुक्ति केन्द्र में शराब छुड़वाने के लिए भर्ती हुए एक युवक की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। परिवारवालों ने युवक के साथ मारपीट करने के साथ ही अन्य कई प्रकार के आरोप लगाए हैं। पुलिस का कहना है कि पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक 35 साल का विकास पिता फकीरचंद योगी निवासी दुर्गा नगर है। परिवालों ने उसे 9 दिसंबर को अमलतास अस्पताल परिसर के नशामुक्ति केन्द्र पर शराब छुड़वाने के लिए भर्ती करवाया था। सोमवार देर शाम को विकास की अचानक मौत हो गई। परिजन उसे मृत अवस्था में जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। इधर, थाना बीएनपी पुलिस ने मर्ग कायम करके मामले को जांच में लिया है।

परिवारवालों ने लगाए केंद्र पर आरोप
मृतक की मां पूनम योगी ने बताया कि विकास ठेकेदारी में उज्जैन रोड स्थित उपनगरीय बस स्टैंड़ कॉम्पलेक्स पर सफाईकर्मी था। वह शराब का आदी था, इसलिए 9 दिसंबर को अमलतास अस्पताल के नशामुक्ति केन्द्र पर शराब छुड़वाने के लिए हमने उसे भर्ती करवाया था। नशामुक्ति केन्द्र पर नशे के इंजेक्शन और नींद की गोली देने के साथ मरीज के साथ मारपीट की जाती है। हाथ पैर बांधकर पलंग पर पटक देते हैं। मां ने अस्पताल प्रबंधन पर इस प्रकार के कई आरोप लगाए हैं।

सिर और शरीर पर चोट के निशान
परिवारवालों का कहना है कि विकास के सिर में टांके लगे हैं और शरीर के अन्य स्थानों पर चोंट के निशान हैं। उन्हें आशंका है कि उसके साथ जमकर मारपीट की गई है। इधर, मामले में बीएनपी थाना प्रभारी मुकेश इजारदार ने बताया कि मामले में मर्ग कायम करके मृतक का पीएम करवाया जा रहा है। जांच उपरांत जो भी रिपोर्ट आएगी, उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।