• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Dewas
  • The farmer had been waiting for the yield to be weaned for three days, the fourth day was not bought by the end of gunny, the day spent under the trolley in 43 degree temperature

समर्थन मूल्य / किसान तीन दिन से कर रहा था उपज तुलने का इंतजार, चाैथे दिन बारदान खत्म हाेने से नहीं हुई खरीदी, 43 डिग्री तापमान में ट्राॅली के नीचे गुजारा दिन

The farmer had been waiting for the yield to be weaned for three days, the fourth day was not bought by the end of gunny, the day spent under the trolley in 43 degree temperature
X
The farmer had been waiting for the yield to be weaned for three days, the fourth day was not bought by the end of gunny, the day spent under the trolley in 43 degree temperature

  • समर्थन मूल्य की खरीदी में कई विसंगतियों के कारण किसान परेशान हो रहा है

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 07:56 AM IST

देवास. समर्थन मूल्य की खरीदी में कई विसंगतियों के कारण किसान परेशान हो रहा है। शासन के गेहूं खरीदी केंद्र पर एसएमएस के माध्यम से कई किसानों को बुला लिया गया, लेकिन जिले व भोपाल में बैठे अधिकारियों के पास ना ही किसानों की उपज का आकलन था ना ही कुछ तैयारी थी। बस केवल भोपाल में बैठे अधिकारी किसानों को एसएमएस करके खरीदी केंद्र तक भेज देते हैं। जब किसान अपनी उपज लेकर पहुंचता है वेयरहाउस फुल हो जाते हैं। इसके चलते खरीदी बंद हो जाती है तो कभी बारदान नहीं होने के कारण खरीदी बंद हाे जाती है। इसके चलते कई किसान 4 से 5 दिनों से खरीदी केंद्र पर अपने वाहन लेकर खड़े रहते हैं। 
शनिवार को बागली क्षेत्र के सभी खरीदी केंद्र पर 55 गठान बारदान की आई थी, लेकिन कुछ घंटों में ही यह बारदान खत्म हो गए। शनिवार शाम से ही बागली क्षेत्र के सभी केंद्राें पर खरीदी बंद पड़ी है। बागली में गुरुवार शाम से बोरी गांव का एक किसान किराए के ट्रैक्टर से अपने फसल बेचने आया, जिसका नंबर शनिवार शाम तक भी नहीं आया अाैर शाम होते-होते बारदान खत्म हो गए। इसके चलते रविवार को भी खरीदी केंद्र बंद रहा। किसान अपना नंबर आने की आस में रविवार को 43 डिग्री तापमान में ट्राॅली के नीचे मोबाइल पर गाने सुनते हुए नजर आया। बागली केंद्र पर रविवार को भी करीब 200 वाहन खड़े थे। 

इन केंद्राें पर भी कई दिनाें से खड़े हैं 200 से अधिक वाहन
इसी प्रकार सेवा सहकारी संस्था चापड़ा में रविवार को 200 से अधिक वाहन खड़े हुए थे। सेवा सहकारी संस्था मातमोर में 70 से 75 वाहन खड़े हुए थे। सेवा सहकारी संस्था कमलापुर में करीब 80 वाहन खड़े हुए हैं। सभी जगह  किसान किराए के वाहन को जल्दी तुलवाकर अपने घर भेजना चाहते हैं। ताकि ज्यादा किराया नहीं लग पाए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना