पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नेमावर हत्याकांड:पुलिस ने 17 मई को रिपोर्ट तो दर्ज कर ली, लेकिन आरोपियों को नहीं पकड़ पाई: दिग्विजय

देवासएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित परिवार से बातचीत करते हुए दिग्विजय सिंह - Dainik Bhaskar
पीड़ित परिवार से बातचीत करते हुए दिग्विजय सिंह
  • दिग्विजय ने पीड़ित परिवार से एक घंटा बीस मिनट अकेले में की बात, उसके बाद मीडिया के सामने खुलकर रखी अपनी बात

बुधवार को मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह पीड़ित परिवार के बीच पहुंचे एवं दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि देकर दो मिनट का मौन रखने के बाद पीड़ित परिवार के सदस्यों से करीब एक घंटा बीस मिनट तक अकेले में चर्चा की। इस दाैरान शुरू से लेकर अब तक के सम्पूर्ण घटनाक्रम की जानकारी ली। इस दौरान मीडिया सहित सभी उपस्थित जनों को बाहर निकाल दिया गया था। घटनाक्रम की जानकारी लेने के बाद सीधे गेस्ट हाउस पहुंचे एवं वहां प्रेस कांफ्रेंस कर मीडिया से चर्चा की एवं कहा मां नर्मदा के पावन तट नाभि तीर्थ क्षेत्र में हुआ जघन्य हत्याकांड दुखद है, जो जानकारी मुझे मिली है। उसके अनुसार 11, 12 मई की रात को मुख्य आरोपी सुरेन्द्र चौहान की जन्मदिन की पार्टी उसी के खेत में मनाई गई थी, जिसमे रूपाली भी शामिल हुई थी, जो रात्रि के 3 बजे घर लौटी थी। अचानक 13 मई को परिवार लापता हो गया, ममता बाई की बेटी भारती ने 17 मई को रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली, लेकिन आरोपियों को पुलिस पकड़ नहीं पाई, किसका दबाव था, किसका प्रभाव था आप सभी लोग जानते हो दिग्विजय ने कहा कि पुलिस का कहना है कि 6 लोगों ने मिलकर मारा है। दिग्विजय सिंह के साथ ओम पटेल, कैलाश कुंडल, जयसिंह ठाकुर, हीरालाल पटेल, ओम पटेल हरदा, गाैतम बंटू गुर्जर, मनोज होलानी, सुनील यादव, दिलीप तोमर, रत्ना पाठक, बबलू गुर्जर, मदन भारी, पप्पू दुबे खल सहित नगर के कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे।

पीड़ित परिजनों से बातचीत के बाद, दिग्विजय ने बताया
सिंह ने कहा कि ये सारी बातें जो मुझे जानकारी मिली है। मैं तो बस इतना जानता हूं, इतना ही कहना चाहता हूं जैसी जानकारी मुझे मिली है। रूपाली हरदा में काम करती थी उसने और पवन ने वहां कमरा किराए से लिया हुआ था और सुरेन्द्र भी उससे वहा जाकर मिलता जुलता रहता था रूपाली उसे अपना पति बताती थी वहां पड़ोसियों ने भी बताया है रूपाली ने उसे अपने पति के रूप में प्रस्तुत किया हुआ था। ये सारी बातें जो मुझे जानकारी मिली है वह आपलोग के सामने है।

मामले की सीबीआई जांच हाे
सिंह ने आगे बताया कि तीसरा एक लड़का जो इसमें शामिल है वो खंडवा रहता था, इसलिए अलग अलग तीन जिले जिसमें अपराध से ताल्लुक है देवास, हरदा, खंडवा वहां के सीसी टीवी की जानकारी मुझे नहीं लगता स्थानीय पुलिस को होगी, पवन जो स्कूटी पर एक के बाद एक बैठाकर लेे गया उसका मोबाइल फोन भी पुलिस ने अब तक रिकवर नहीं किया। हम चाहते हैं कि सीबीआई जांच हो, क्योंकि तीन अलग अलग जगह घटना हुई है इसलिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम का गठन हो। प्रश्न के जवाब में कहा कि हमें नरोत्तम मिश्रा पर भरोसा नहीं है।

खबरें और भी हैं...