• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Dewas
  • The Thief Said We Do Not Know The Deputy Collector, The Collector In The Board Thought That He Would Get Goods Worth Two Lakhs, If He Got 4 Thousand Inside, He Got Angry, So Write The Letter.

कलेक्टर को चिट्‌ठी लिखने वाले चोर पकड़ाए!:बोले- कलेक्टर का समझकर डिप्टी कलेक्टर के घर घुसे, 4 हजार ही मिले तो गुस्से में लिख दिया- ताला ही क्यों लगाते हो कलेक्टर..

देवास9 दिन पहले
डिप्टी कलेक्टर के घर चोरी करने वाले कुंदन और शुभम।

देवास पुलिस ने दो दिन पहले हुई चोरी के आरोपियों को गिरफ्तार किया। ये चोर कुछ ज्यादा स्पेशल हैं, क्योंकि इस चोरी की चर्चा चोरी गए माल से ज्यादा उस एक चिट्‌ठी से रही, जो ये छोड़कर गए थे। डिप्टी कलेक्टर के घर चोरी करने घुसे इन चोरों को जब घर से ज्यादा माल नहीं मिला तो इनका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया।

गुस्से में चोरों ने यहीं से एक कागज लिया और जाते-जाते लिख गए - जब पैसे नहीं थे तो लॉक नहीं करना था कलेक्टर। चोरों से जब ऐसा करने का कारण पूछा गया तो बोले - हमें नहीं पता था डिप्टी कलेक्टर। हमने तो कलेक्टर पढ़ा और सोचा तगड़ा माल मिलेगा। भीतर पहुंचे तो मायूस हो गए। गुस्से में ऐसा कर दिया।

पुलिस ने मंगलवार शाम को देवास में डिप्टी कलेक्टर त्रिलोचन गौड़ के सरकारी आवास में चोरी करने वाले दोनों आरोपियों को पकड़ लिया। गिरफ्त में आए कुंदन पुत्र नरेन्द्र ठाकुर निवासी बिहारीगंज और शुभम उर्फ छोटू पुत्र राधेश्याम जायसवाल निवासी बिहारीगंज ने बताया कि उनका एक और साथी इसमें शामिल था। उन्होंने उसका नाम प्रकाश उर्फ गंजा बताया। उन्होंने बताया कि वे नहीं चोरी करने प्रकाश घर में घुसा था। पुलिस ने आरोपियों के पास से चार हजार रुपए और एक स्टील का डिब्बा बरामद किया है।

बोर्ड पर कलेक्टर देख चोरी करने घुसे थे।
बोर्ड पर कलेक्टर देख चोरी करने घुसे थे।

ज्यादा सामान नहीं मिलने पर लिखी थी चिठ्ठी
पुलिस के अनुसार डिप्टी कलेक्टर अभी खातेगांव में SDM के पद पर पदस्थ हैं। उनका शहर के सिविल लाइन में सरकारी आवास है। इसलिए करीब 15 दिन से उनका घर सूना था। खाली घर के साथ ही बोर्ड पर कलेक्टर देख चोरों को बड़ा हाथ मारने का ख्याल आया था। उन्हें लगा था कि कलेक्टर का घर है, लाख दो लाख रुपए तो मिलेंगे। इसी कारण वे दो दिन पहले घर में दाखिल हुए थे।

चोरों ने जब घर खंगाला तो ज्यादा कीमती सामान नहीं मिला। उनके घर से कुछ कैश मिला। इसी बात से चोर नाराज हो गए। चोर जाते-जाते अपने हाथ से लिखी एक चिट्‌ठी छोड़ गए। खत लिखने के लिए उन्होंने SDM के घर से ही पेन और कागज लिया था। 8 अक्टूबर को वह घर लौटे तो चोरी का पता चला था।

पुलिस के अनुसार कुंदन पर 6 मामले तो शिवम पर 5 प्रकरण दर्ज हैं। मुख्य सरगना प्रकाश थाने का हिस्ट्रीशीटर है और उसके खिलाफ करीब गए दर्जन केस दर्ज है। चोर शुभम का कहना है कि उसने ही खत लिखा था। आरोपी नशे के आदी हैं।

खबरें और भी हैं...