पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

घट रहा संक्रमण:जून में 38 संक्रमित मिले, मई के चार दिनों में आए थे 970 पॉजिटिव

धार9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लाॅकडाउन के चलते बाजार में पसरे सन्नाटे के बीच आने-जाने वालाें काे टाेकता पुलिसकर्मी। - Dainik Bhaskar
लाॅकडाउन के चलते बाजार में पसरे सन्नाटे के बीच आने-जाने वालाें काे टाेकता पुलिसकर्मी।
  • चौराहे सूने, घरों में लोग.... ये ही संयम रखा तो जरूर हारेगा कोरोना

काेराेना से मौतों को देख सबक लेते हुए जनता भी संयम दिखा रही है। नतीजा है कि हम उबर रहे हैं। अनलाॅक के बाद रविवार काे पहले लाॅकडाउन के दिन लाेग पूरी तरह घराें में रहे। चप्पा-चप्पा सूना था। मई के शुरुआती चार दिनाें में कुल 4807 सैंपल भेजे गए थे और मरीज 970 मिले थे। जबकि जून के इन शुरुआती चार दिनाें में 5731 सैंपल भेजे गए और मरीज सिर्फ 38 ही मिले हैं। इन दाे महीनाें के शुरुआती दाैर की सैंपलिंग की तुलना की जाएं ताे मई के मुकाबले जून में 924 (89.19) प्रतिशत सैंपल ज्यादा भेजे गए हैं।

आंकड़े इस बात का सबूत है कि धार काेराेना की दूसरी लहर से मुक्ति की तरफ बढ़ रहा है। पिछले महीने जहां प्रतिदिन 200 के करीब मिल रहे थे। वहां अब इस महीने यह संख्या घटकर महज 10 के अंदर-अंदर ही रह गई। हमें यह धैर्य खाेना नहीं है। हर संडे घर में और बाकी दिन अगर बाहर रहें ताे सावधानी पूरी बरतें। तभी हम काेराेना काे मात दे पाएंगे।

पहले 10 में पांच लाेग बिना मास्क के मिलते थे, अब 50 में से 4-5 ही ऐसे मिलते हैं

काेराेना की दूसरी लहर में हमने लाशाें का अंबार देखा है। मुक्तिधाम में ताे चिताएं जलाने की जगह तक नहीं बची थी। दूसरी लहर की भयावहता काे देखने के बाद लाेगाें में डर बढ़ा, जिससे उनमें जागरूकता भी बढ़ी। सिटी मजिस्ट्रेट शिवांगी जाेशी बताती हैं कि दूसरी लहर की शुरुआती दाैर में लाॅकडाउन से पहले 10 में 5 लाेग बिना मास्क के मिलते थे।

मार्च में प्रतिदिन 150 से 200 चालान बिना मास्क के बनते थे, लेकिन अब 50 में से 4 से 5 लाेग ही बिना मास्क के मिल रहे हैं। जून के पांच दिनों में प्रतिदिन महज 60 से 70 चालान ही बनाएं गए है। मास्क ताे सभी लगा रहे हैं, लेकिन अब ऐसे लाेगों पर सख्ती बरती जा रही है। जाे मास्क ठीक से नहीं लगा रहे हैं।

छह दिनाें में चार माैत, 597 में से 436 बेड खाली
जून के छह दिनाें में चार माैतें हुई है। इनमें 1 जून काे एक संदिग्ध व एक की माैत निगेटिव हाेने के बाद हुई है। 4 जून व 5 जून काे जाे माैतें हुई हैं वह भी काेविड से निगेटिव हाेने के बाद हुई है। जिला महामारी नियंत्रण अधिकारी डाॅ. संजय भंडारी बताते हैं कि फिलहाल काेविड वार्ड के कुल 597 बेड में से 436 बेड खाली है। 161 एक्टिव मरीज हैं।

खबरें और भी हैं...