पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Dhar
  • 55 Years Ago, Dilip Kumar Had Come To Mandu To Shoot 'Dil Diya Dard Liya', Had Told Zahoor Show The Bats By Flying Them, I Will Reward, Had Given Four Annas

मांडू की यादों में दिलीप:55 साल पहले मांडू में ‘दिल दिया दर्द लिया’ की शूटिंग करने आए थे दिलीप कुमार, जहूर से कहा था- चमगादड़ काे उड़ाकर दिखाओ, इनाम दूंगा, चार आने दिए थे

मांडू18 दिन पहलेलेखक: सुनील तिवारी
  • कॉपी लिंक
मांडू के स्मारकाें में वहीदा रहमान के साथ फिल्म की शूटिंग करते हुए। - Dainik Bhaskar
मांडू के स्मारकाें में वहीदा रहमान के साथ फिल्म की शूटिंग करते हुए।
  • 1966 में फिल्म की शूटिंग के लिए वहीदा रहमान के साथ मांडू आए थे फिल्म अभिनेता

अभिनय सम्राट के नाम से पहचाने जाने वाले अभिनेता दिलीप कुमार का बुधवार काे मुंबई में निधन हाे गया। उनके निधन की खबर से मांडू के वे लाेग, जिन्हाेंने उन्हें करीब 55 साल पहले बहुत ही करीब से देखा और बात की थी, मायूस हाे गए। साल 1966 में दिलीप कुमार फिल्म दिल दिया दर्द लिया की शूटिंग के लिए मांडू आए थे। उनके साथ फिल्म की हीराेइन वहीदा रहमान भी थी। फिल्म के सेट पर काम करने वाले उस वक्त के युवा अब बुजुर्ग हाे गए हैं, लेकिन उनके मन में दिलीप साहब से मुलाकात की वे यादें अब भी ताजा हैं। किसी ने सेट पर आठ दिन मजदूरी की ताे किसी ने उनके कहने पर पक्षियाें का उड़ाया और इनाम पाया। भास्कर ने उन लाेगाें से बात की ताे उन्हाेंने सेट पर बिताए पल साझा किए।

मेरा सबसे बड़ा इनाम था
मांडू के 78 वर्षीय जहूर खान ने बताया जहाज महल के कपूर तालाब पर शाम के समय दिलीप कुमार घूम रहे थे। उसी वक्त उन्हें पेड़ पर चमगादड़ दिखे। उन्होंने मुझ से कहा इन पक्षियों को उड़ा सकते हो। अगर उड़ा दोगे तो इनाम दूंगा। मैंने उड़ा दिया। उन्होंने कहा वाकई अद्भुत पक्षी है। उन्हाेंने मुझे चार आने इनाम दिया। यह मेरे जीन का सबसे बड़ा इनाम था।

आठ आने दिए थे इनाम में
फिल्म के सेट पर नन्नूभाई लाेधा ने 18 दिन मजदूरी की थी। दिलीप साहब काे बहुत ही पास देखा। 8 आने इनाम में दिए थे। कैमरे की लाइट लेकर जब मैं अपने साथियों के साथ जा रहा था उसी बीच वहीदा रहमान फिल्म का शॉट कर रही थी। दिलीप साहब ने भी राम-राम की थी। उन्हें करीब से देखकर राेमांचित हाे गया था। आज वह दाैर कहां रहा।

ये गाने फिल्माए गए थे
दिलरुबा में तेरे प्यार में, कोई सागर दिल को बहलाता नहीं, फिर तेरी कहानी याद आई, सावन आए या ना आए जैसे कई गीत इस फिल्म में मांडू में फिल्माए गए थे।
डायरेक्टरों से कर रहे बात
मांडू में फिल्मी दुनिया को भी लाना चाहते हैं। कुछ डायरेक्टरों से बात हुई है। मांडू में फिल्म बनाने के लिए हम उन्हें बुला रहे हैं। -आलोक कुमार सिंह, जिला कलेक्टर

खबरें और भी हैं...