पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

95% के पास हाेने की उम्मीद:आज घाेषित हाेगा 9वीं और 11वीं का परीक्षा परिणाम

धार25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 45 हजार से अधिक बच्चे, 95% के पास हाेने की उम्मीद

तिमाही और अर्धवार्षिक परीक्षा के आधार पर कक्षा 9वीं और 11वीं का रिजल्ट तैयार हो गया है। दोनों कक्षाओं के जिले में करीब 45 हजार से अधिक बच्चे हैं। 95 प्रतिशत से अधिक विद्यार्थियाें के पास हाेने की उम्मीद जताई जा रही है।

शेष बचे विद्यार्थियों को शिक्षा विभाग दूसरा माैका देगा। जिले के सभी स्कूलों का 9वीं और 11वीं का रिजल्ट 31 मई को ऑनलाइन पोर्टल पर अपलोड हो जाएगा। साथ ही विभाग की ओर से वाट्सएप पर भी इसकी सूचना विद्यार्थयाें काे दी जाएगी।
30 मई काे रविवार हाेने से परिणाम 31 मई काे घाेषित किया जाएगा। शिक्षा विभाग के विमर्श पोर्टल को ओपन कर बच्चे घर बैठे अपना रिजल्ट देख सकेंगे। ज्ञात रहे नवीं और ग्यारहवीं का रिजल्ट तिमाही व अर्धवार्षिक परीक्षा के परिणाम में स्कोरिंग नंबरों के आधार पर तैयार किया गया है। इस फार्मूले से अधिकांश बच्चे पास होने की उम्मीद है। शेष बचे बच्चों काे एक बार और परीक्षा देने का मौका मिल जाएगा।
10वीं का बन रहा है रिजल्ट, 12वीं की हाेगी परीक्षा
बोर्ड द्वारा तय फार्मूले के आधार पर बच्चों की मार्किंग की जा रही है। नए फार्मूले के आधार पर 10वीं कक्षा का का रिजल्ट बनाया जा रहा है। प्री बोर्ड, यूनिट टेस्ट और आंतरिक मूल्यांकन तीनों ही परीक्षाओं में अनुपस्थित रहने वाले ही फेल रहेंगे। परीक्षाओं में शामिल
सभी बच्चे इस बार गारंटी से पास हो जाएंगे। इनका रिजल्ट बनाकर 10 जून तक भेजा जाएगा, इसके बाद माशिमं इसकी घोषणा करेगा। फिलहाल इसकी तारीख तय नहीं की गई है। इधर माशिमं द्वारा 12वीं की परीक्षा ली जाएगी। इसके लिए आगामी दिनाें में टाइम टेबल जारी किया जाएगा।
उम्मीद है कि अधिकांश बच्चे पास हाे जाएंगे
डीईओ जीएस चौहान ने बताया 9वीं और 11वीं का रिजल्ट तैयार हाे गया है। 31 मई काे घाेषित कर दिया जाएगा। विमर्श पाेर्टल पर जाकर इसे देखा जा सकता है। वैसे वाट्सएप पर भी हम इसकी जानकारी बच्चाें काे भेजेंगे। उम्मीद है कि अधिकांश बच्चे पास हाे जाएंगे। जाे शेष बचेंगे उन्हें भी दूसरा माैका
दिया जाएगा।
इसलिए 95 प्रतिशत बच्चे हाे जाएंगे पास

  • बेस्ट फाइव के आधार पर तैयार हुआ रिजल्ट।
  • त्रैमासिक और अर्धवार्षिक परीक्षा में से जिसमें ज्यादा अंक आए उन्हें मुख्य परीक्षा का प्राप्तांक माना।
  • आवश्यकतानुसार अधिकतम 10 अंकों तक की ग्रेस सभी विषयों में देने की छूट।
खबरें और भी हैं...