पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Dhar
  • After Seven Years, Sharad Purnima Is Coming On Friday, The Moon Will Rise In Five Auspicious Moments, It Will Come Again After 13 Years

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शुभ संयोग:सात साल बाद शरद पूर्णिमा शुक्रवार को आ रही, पांच शुभ याेग में होगा चंद्रमा का उदय, 13 साल बाद आएगा फिर ऐसा संयाेग

धारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस दिन (शरद पूर्णिमा) लक्ष्मी पूजन का विशेष महत्व, सर्वार्थ सिद्धि याेग हाेने से खरीदी के लिए शुभ है

इस साल शरद पूर्णिमा पर अच्छा शुभ संयाेग बन रहा है। 30 अक्टूबर काे मनाई जाने वाली पूर्णिमा शुक्रवार के दिन है। ऐसा संयाेग सात साल बाद बन रहा है और आगे 13 साल बाद आएगा। इस दिन चंद्रमा का उदय पांच शुभ याेग में हाेने के साथ लक्ष्मी पूजा का भी विशेष महत्व है। इसी दिन सर्वार्थ सिद्धि याेग हाेने से खरीदी करना शुभ हाेगा।

प्राॅपटी, इलेक्ट्राॅनिक्स आयटम, ज्वेलरी, वाहन की खरीदी शुभ है।ज्याेतिषों का कहना है कि अश्विन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा शरद पूर्णिमा कहलाती है। शरद पूर्णिमा की रात चंद्रमा अपनी साेलह कलाओं से पूर्ण हाेता है। इस साल शरद पूर्णिमा शुक्रवार काे हाेने से इस व्रत में रात के प्रथम प्रहर व संपूर्ण निशीथ व्यापनी पूर्णिमा ग्रहण करना चाहिए।

सुख-सुविधा देने वाला हाेगा पूर्णिमा का व्रत और पूजन

ज्याेतिष पंडित अशाेक शास्त्री ने बताया कि पूर्णिमा 30 अक्टूबर की शाम 5.45 बजे शुरू हाेकर 31 अक्टूबर रात 8 बजे समाप्त हाेगी। पूर्णिमा की पूजा, व्रत और स्नान शुक्रवार काे ही हाेगा। सात साल बाद शुक्रवार काे बन रहे याेग व पांच शुभ याेग में चंद्रमा उदय हाेने से लक्ष्मी पूजन का महत्व भी बढ़ गया है। पूजा सुख सुविधा देने वाली भी हाेगी। खरीदी करना शुभ हाेगा।

चंद्राेदय शाम 5.34 काे, पूरा चंद्रमा दिखाई देने से महापूर्णिमा भी कहेंगे

पंडिक शास्त्री ने बताया चंद्राेदय 5.34 शाम काे शरद पूर्णिमा के व्रत काे काेजागार व्रत भी कहते हैं। इस दिन लक्ष्मीनारायण, महालक्ष्मी व तुलसी पूजन किया जाता है। इस दिन श्रीकृष्ण ने गोपियों के साथ महारास रचाया था। किवदंती है कि इस दिन मां लक्ष्मी रात्रि भ्रमण पर निकलती है यह जानने के लिए कि कौन जाग रहा है और कौन सो रहा है। उसी अनुसार मां लक्ष्मी उसके घर पर ठहरती है। इसीलिए इस दिन लोग जागरण करते हैं। जिससे मां की कृपा उन पर बनी रहे। इस वर्ष जाे याेग बना है उसमें चंद्रमा पूरा दिखाई देने से इसे महापूर्णिमा भी कहेंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपका कोई भी काम प्लानिंग से करना तथा सकारात्मक सोच आपको नई दिशा प्रदान करेंगे। आध्यात्मिक कार्यों के प्रति भी आपका रुझान रहेगा। युवा वर्ग अपने भविष्य को लेकर गंभीर रहेंगे। दूसरों की अपेक्षा अ...

और पढ़ें