पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

काॅल ऑफ:दाे दिन बाद काॅल ऑफ हाेना शुरू हाे जाएंगे हाेम गार्डस, लेकिन सिखाने का जज्बा अब भी कायम

धार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 1 दिसंबर काे जिले से 14 जवान काॅल ऑफ हाेंगे

प्रदेश शासन के आदेश पर प्रदेशभर के 12 हजार हाेमगार्डस जवानाें काे काॅल ऑफ किया जाएगा। 1 दिसंबर से प्रक्रिया शुरू हाेगी। इसका असर इन जवानों की राेजी-राेटी पर पड़ेगा। शासन द्वारा इतना कुछ करने के बावजूद इनमें समाज के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा अब भी कायम है।

शासन के आदेश के विराेध में चाहते ताे यह जवान शनिवार काे पीजी काॅलेज में आयाेजित वाॅलेंटियर्स कार्यशाला में भाग नहीं लेते लेकिन सकारात्मक साेच के साथ एसडीआरएफ और हाेमगार्डस के लगभग 25 से ज्यादा जवानाें ने कार्यशाला में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। 100 सिविल डिफेंस वाॅलेंटियर्स काे आपदा में बचाव के तरीके बताने के लिए हाेमगार्डस और एसडीआरएफ का अमला साजाे-सामान के साथ पहुंचा। अमला दिनभर काॅलेज में रहा।

जानकारी के अनुसार शासन के आदेश का असर जिले के 292 हाेमगार्डस व 14 एसडीआरएफ जवानाें पर पड़ेगा। 1 दिसंबर काे 14 जवान काॅल ऑफ हाेंगे। इसमें 12 हाेम गार्डस और 2 एसडीआरएफ जवान हैं। फरवरी में संख्या और बढ़ सकती है।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एडीएम शैलेंद्र साेलंकी थे। उन्हाेंने भी सिविल डिफेंस वाॅलेंटियर्स काे आपदा प्रबंधन से जुड़ी जानकारियां दी। एएसपी देवेंद्र पाटीदार ने आपदा के समय किस तरह कार्य करना चाहिए ये बताया।

कार्यशाला में सीनियर स्टॉफ ऑफिसर जबलपुर भोजपाल वर्मा, डिविजनल कमांडेंट होमगार्ड इंदौर देवेंद्र कुमार विजयवत, डिस्ट्रिक्ट कमांडेंट होमगार्ड विनोद बाैरासी, प्लाटून कमांडर आगर-मालवा सुरेश कुमार यादव, प्लाटून कमांडर छतरपुर संजय गौर, प्लाटून कमांडर हरदा शिवराज चाैधरी, प्लाटून कमांडर भोपाल महेंद्र वर्मा, प्लाटून कमांडर इंदौर माधव खैर, प्लाटून कमांडर सीधी मयंक तिवारी, प्लाटून कमांडर दतिया निकिता कटारे सहित हाेमगार्डस शामिल हुए।

चार घंटे के सेशन, फिर माॅकड्रिल

सुबह 11 से आयाेजन शुरू हुआ। इसके तहत दाे सेशन हुए। इसमें सिविल डिफेंस वाॅलेंटियर्स काे आपदा प्रबंधन से जुड़ी बाते बताई गई। इसके बाद दाेपहर करीब 3.30 बजे मॉकड्रिल कराई गई। जिसमें बाढ़ से निपटने के साथ इसके दुष्परिणाम बताते हुए बताया कि हर वर्ष आने वाली आपदाओं में करीब 90 प्रतिशत बाढ़ से आती है।

इनमें लोगों का बेघर होना, फसलों का नष्ट होना, जान माल की हानि, जल-जलित बीमारियों का फैलना, दुरसंचार व्यवस्था प्रभावित हाेना आदि है। कार्यशाला में यह भी बताया कि बाढ़ के बाद यदि आपका घर पूर्णतः क्षतिग्रस्त हो गया हो ताे नजदीकी अस्पताल में स्वास्थ्य परीक्षण कराएं, घरों में प्रवेश करने से पहले कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करें, बाढ़ के पानी से भीगे हुए खाद्य पदार्थ न खाएं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser