धार कोर्ट का फैसला:धोखाधड़ी करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई 10 साल के सश्रम कारावास की सजा

धार6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फैसले के बाद धार कोर्ट से आरोपी की गिरफ्तारी करती पुलिस - Dainik Bhaskar
फैसले के बाद धार कोर्ट से आरोपी की गिरफ्तारी करती पुलिस

धरमपुरी कोर्ट के जज राजेश नन्देश्वर ने धामनोद थाने पर दर्ज धोखाधड़ी के मामले में कोर्ट ने शुक्रवार को आरोपी यश देवड़ा (21) साल को 10 साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई हैं। आरोपी ने अपने साथ लूट की जानकारी बताई थी। पुलिस की जांच में पता चला कि आरोपी ने पंप संचालक के साथ ही धोखाधड़ी की है। जिस आधार पर ही पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया था।

मामले की जानकारी देते हुए अतिरिक्त शासकीय लोक अभियोजक शाहिद खान ने बताया कि साल 2018 में आरोपी यस देवड़ा रेडिएंट कंपनी का कर्मचारी था। इस वजह से रिलायंस पेट्रोल पंप से नगद 8 लाख 81 हजार 274 लेकर सेंट्रल बैंक इंडिया में जमा करवाने गया था। दोपहर में सूचना मिली कि यश देवड़ा रुपयों से भरा बैग अज्ञात दो व्यक्ति लूटकर ले गए। सूचना पर धामनोद पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरु की। आरोपी ने लूट की झूठी कहानी बताकर पुलिस और पंप मालिक को गुमराह करने का प्रयास किया था। मामले में दोषी पाते हुए कोर्ट ने आरोपी यश को 10 साल की सजा सुनाई।

खबरें और भी हैं...