पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मजिस्ट्रेट से मांग:डीजे संचालक बोले- सभी कामों से प्रतिबंध हटा, डीजे से भी हटाएं

धार5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मैडम...! कर्ज लेकर डीजे का व्यवसाय शुरू किया था। दाे साल से काेराेना महामारी के चलते प्रतिबंध हाेने से किस्त चुकाना ताे दूर घर तक नहीं चला पा रहे हैं। प्रदेश में सभी व्यापार और व्यवसाय शुरू हाे चुके हैं। धार्मिक, सामाजिक व राजनैतिक यात्राएं भी निकल रही हैं, लेकिन डीजे बजाने पर प्रतिबंध ही है। समस्या काे देख डीजे बजाने की अनुमति दी जाए। यह बात मंगलवार काे जिलेभर से आए डीजे व्यवसायियाें ने राजा भोज साउंड एसोसिएशन के नेतृत्व में सिटी मजिस्ट्रेट शिवांगी जाेशी से कही।

एसाेसिएशन के जिलाध्यक्ष बालाराम साेलंकी, जिला उपाध्यक्ष गणेश लाेधा ने बताया साउंड व्यवसायियाें की जीविका का यह एकमात्र साधन है। कोरोना के चलते व्यवसाय दाे साल से बंद पड़ा है। इससे परिवार चलाने में असुविधा हो रही है। कर्ज लेकर व्यवसाय शुरू किया था, अब सामान बेचकर घर चलाना पड़ रहा। सरकार ने कोई मदद ताे नहीं की किंतु प्रतिबंध नहीं हटाने से समस्या बढ़ती जा रही।

छोटे-छोटे आयोजन में भी साउंड बजाने की अनुमति प्रशासन द्वारा नहीं दी जा रही है। जबकि क्षेत्र में राजनैतिक, धार्मिक रैलिया और यात्रा निकल रही है इसमें पुलिस प्रशासन मौन है किंतु छोटे आयोजनों में यदि कोई साउंड बज जाए तो पुलिस तत्काल कार्रवाई कर केस दर्ज कर रही है। जिससे मानसिक रूप से भी परेशान हाेना पड़ रहा। धार जिले में 2500 व्यवसायी हैं।

खबरें और भी हैं...