पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आयोजन:अपने बीते हुए बुरे कल की परछाई आज पर न पड़ने दें : नारायण भाई

धार9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोई अपना करीबी जब चोट पहुंचाता है तो पलभर के लिए हमें सदमा लगता है। हम समझ नहीं पाते की इस परिस्थिति में कैसे रिएक्ट करना है लेकिन चोट कितनी भी गहरी क्यों न हो उसे भूलकर आगे तो बढ़ना ही पड़ता है। जब कोई आपको चोट पहुंचाए तो दुःख में टूटने की बजाय खुद को इस हालात से उबारने की कोशिश करें। जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए चोट के दर्द से उबरना होगा और इसके लिए कुछ बातों पर अमल करें। यह बात मनावर रोड स्थित ब्रह्माकुमारी सभागृह में जीवन जीने की कला के प्रणेता ब्रह्माकुमार नारायण भाई ने अपने दिल पर लगे जख्म कि सर्जरी कैसे करें विषय पर नगरवासियों को प्रवचन में कही। ब्रह्माकुमार ने आगे कहा सबसे पहले तो यह जानने की कोशिश करें कि क्या सामने वाले इंसान ने जानबूझकर आपके साथ ऐसा किया है या फिर अनजाने में गलती हो गई या आपको कोई गलतफहमी हुई है। इस मामले में दिल की बात सुनें और यदि आपको लगता है कि सामने वाले ने जानबूझकर ऐसा किया है, तो चुप रहने की बजाय शांति के साथ अपनी प्रतिक्रिया दें। यदि आप उस शख्स का सामना करने की सोचते हैं तो फिर उससे मिलते ही अपनी भावना और अपना पक्ष खुलकर रखें। इससे आप दोनों किसी नतीजे पर पहुंच जाएं और जो चोट पहुंची है, शायद आप उसे भूल जाएं। यदि कभी आपको यह लगे की सामने वाले ने आपका दिल दुःखाया है और उसकी वजह कहीं न कहीं आप भी हैं, तो माफी मांगने में संकोच न करें। इससे दिल का बोझ हल्का हो जाता है। माफ करके आगे बढ़ें यही दिल के जख्म का टैबलेट है। अपने बीते हुए बुरे कल की परछाई आज पर न पड़ने दें। चोट पहुंचाने वाले को माफ जरूर करें लेकिन उसे उसकी गलती का एहसास भी कराएं।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें