पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Dhar
  • Due To The Fall Of Tractor trolley Filled With Soil, The Worker Died On His Own, The Owner Admitted To Indore After Being Seriously Injured

ट्रैक्टर-ट्राॅली पलटी:मिट्टी से भरी ट्रैक्टर-ट्राॅली के गिरने से मजदूर की माैके पर ही माैत, गंभीर घायल होने पर मालिक इंदौर में भर्ती

कालीबावड़ी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कालीबाड़ी. पिकअप वाहन से शव काे धरमपुरी ले जाते हुए ग्रामीण - Dainik Bhaskar
कालीबाड़ी. पिकअप वाहन से शव काे धरमपुरी ले जाते हुए ग्रामीण
  • साकलदा तालाब से मिट्टी लेकर ईंट भट्टे पर डाल रहे थे, ट्राॅली की हाइड्रोलिक फंसने से हुआ हादसा

गुरुवार को सुबह 8 बजे मिट्टी से भरी ट्रैक्टर ट्राॅली के गिरने से एक मजदूर की दबकर मौके पर ही मौत हो गई, जबकि ट्रैक्टर मालिक गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे इंदौर में भर्ती किया गया है। मृतक ट्रैक्टर पर मजदूरी करता था। साकलदा तालाब से ट्रैक्टर से मिट्टी लेकर ईंट भट्टे पर सिंगारपुरा पहुंचे थे। यहां मिट्टी खाली करते समय ट्राॅली की हाइड्रोलिक फंस गई।

ईंट भट्टा मालिक गणेश पिता शंकर प्रजापति (30) और मजदूर गोलू पिता मांगीलाल (16) ट्राॅली के नीचे जाकर उसे ठीक कर रहे थे तभी ट्राॅली उनके ऊपर आ गई। जिससे दोनों के सिर ट्राॅली में फंस गए। आसपास काम कर रहे, मजदूर दौड़े और उन्होंने दोनों को निकालने का प्रयास किया। तत्काल जेसीबी मशीन को बुलाकर मशीन से ट्राॅली को उठाया और दोनों घायलों को निकाला गया। घायल गोलू की सिर में गंभीर चोट लगने से माैके पर ही मौत हो गई। भट्टा मालिक गणेश को फौरन इलाज के लिए धामनोद और उसके बाद इंदौर के निजी अस्पताल में भर्ती किया गया। घटना की सूचना के बाद माैके पर पहुंची 108 एंबुलेंस के पायलट राजेंद्र साेलंकी ने नियमाें का हवाला देते हुए मृतक को ले जाने साफ मनाकर दिया।

पायलट ने कहा कि जिनकी सांसें चल रही हो उसे ही हम इलाज के लिए ले जाते हैं। डायल 100 से आए धरमपुरी थाने के जवान नंदी सोलंकी ने मौके की नजाकत को देखते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने के लिए ग्रामीणों से वाहन की व्यवस्था करने को कहा। घायल ईट भट्टा मालिक के बड़े भाई लोकेश प्रजापति ने तत्काल पिकअप वाहन से शव को पोस्टमार्टम के लिए धरमपुरी पहुंचाया। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के साैंप दिया गया। सिंगाढ़पुरा में खुज नदी के किनारे मृतक गोलू का अंतिम संस्कार किया गया। धरमपुरी थाने व सामुदायिक केंद्र पर शव वाहन ना होने से अक्सर माैके पर हुई मौत के बाद परिजनों को निजी ट्रैक्टर या अन्य साधन से ले जाना पड़ता है।

खबरें और भी हैं...