पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रजा के बीच पहुंचे महाराजा:उत्साह: डेढ़ किमी तक सड़कें फुल, हर तरफ जय बाबा धारनाथ की रही गूंज

धार13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • धारेश्वर मंदिर प्रांगण में दोपहर 3 बजे मुखौटा पालकी में विराजित करने के बाद महाआरती कर गार्ड ऑफ ऑनर दिया
  • मांझी समाज के युवा पालकी को लेकर निकले, शहरवासी बाबा की एक झलक देखने घराें के बाहर आ गए

शहर के अधिष्ठाता भगवान धारनाथ सोमवार शाम ठाटबाट के साथ सुसज्जित पालकी में विराजित होकर शहर भ्रमण पर निकले। धर्मस्थान रक्षक मंडल के तत्वावधान में दोपहर 3 बजे बाबा का मुखौटा पालकी में विराजित कर प्राण-प्रतिष्ठा की गई।

सायं 4 बजे विधायक नीना वर्मा, कलेक्टर आलोक सिंह, एसपी आदित्य प्रताप सिंह व राजवंश के हेमेंद्रसिंह पवार की मौजूदगी में महाआरती की गई। गार्ड ऑफ ऑनर के बाद मांझी समाज के युवा पालकी को कंधे पर उठाकर मंदिर से बाहर निकले।

माैजूद श्रद्धालुओं ने घराें के बाहर ओटले व सड़क किनारे खड़े हाेकर बाबा के दर्शन कर फूलाें से स्वागत किया। छबीना मंदिर से निकलकर बख्तावर मार्ग से हटवाड़ा हाेकर परंपरागत मार्गों से हाेकर देर रात मंदिर पहुंचा। जहां शयन आरती की गई।

पालकी के आगे बाबा की धूनी चली, युवा भगवा कपड़ाें में केसरिया झंडा लहराते हुए लगा रहे थे जयकारे...

झांकी व अखाड़े नहीं निकले, ढाेल-मंजीरे पर थिरके
कोरोना संक्रमण के चलते छबीने के अतिरिक्त अन्य कोई जुलूस, झांकी, अखाड़े नहीं निकले। छबीने के आगे-आगे युवाओं की टाेली वाद्ययंत्र, बैंड, ढोल, मंजीरे बजाते हुए चले। जिस पर श्रद्धालुओं ने नृत्य किया। मंदिर से निकलने के बाद परंपरागत मार्गाें पर श्रद्धालु दर्शन के लिए उमड़े।

पालकी के पास भीड़भाड़ नहीं हाे इसके लिए प्रशासन ने रस्सी का घेरा बनाकर पुलिस बल लगाया। महिलाएं श्रीफल व पूजन सामग्री लेकर पालकी तक आई। श्रद्धालुओं में उत्साह ऐसा दिखा कि उन्हाेंने दर्शन करते हुए अपने माेबाइल में इस दृश्य काे कैद किया।

धारेश्वर मंदिर प्रांगण में धारनाथ की आरती करते विधायक-कलेक्टर।
धारेश्वर मंदिर प्रांगण में धारनाथ की आरती करते विधायक-कलेक्टर।

बरसाए श्रद्धा के फूल : पालकी छत्रीपुरा से आगे बढ़ते हुए बख्तवार मार्ग स्थित गुरुद्वारे के यहां पहुंची थी, जबकि आगे चल रहा जत्था हटवाड़ा, पीपली बाजार हाेते हुए आनंद चाैपाटी पहुंच गया था। जगह-जगह घराें से बाबा व श्रद्धालुओं पर फूल बरसा कर स्वागत किया गया। पालकी के आगे बाबा की धूनी चली।

छबीने के पहले एक घंटे हुई जोरदार बारिश
छबीना निकलने से पहले दाेपहर 3 बजे से 4 बजे तक एक घंटे तेज बारिश हुई। इससे सड़कें धुल गई। हालांकि धारेश्वर राेड पर सड़क किनारे पानी जमा हाेने से श्रद्धालुओं काे परेशानी का सामना करना पड़ा। छबीने के स्वागत में पुष्प वर्षा करने से सड़कें फूलाें से पट गई थी। जिसे नपा कर्मचारियाें ने झाड़ू व फावड़े से साफ किया। युवा भगवा कपड़ाें में केसरिया झंडा लहराते हुए जय हाे बाबा धारनाथ की। धारेश्वर से हटवाड़ा पहुंचने तक कचरा वाहन पूरा भर गया था।

400 जवानाें का रहा अतिरिक्त बल तैनात
सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम देखने काे मिले। एसपी आदित्य प्रताप सिंह, एएसपी, डीएसपी, सीएसपी, दाे थानाें के टीआई व पुलिस बल सहित 400 जवानाें का अतिरिक्त बल तैनात दिखा। हर गली, चाैराहे पर पुलिस तैनात रही। आगे-आगे चार घुड़सवार पुलिसकर्मी व्यवस्था पर नजर बनाते चले। पालकी के पीछे-पीछे एडीएम डाॅ. सलाेनी सिड़ाना, डीएसपी माेनिका सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट शिवांगी जाेशी सहित अन्य अधिकारी तैनात रहे।

खबरें और भी हैं...