पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

उपचुनाव:जाे विधायक हमारे नहीं हुए वाे आपके क्या होंंगे- कमलनाथ

धारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कांग्रेस की सरकार गिरने के बाद पहली बार पूर्व सीएम कमलनाथ जनता के बीच पहुंचे। यहां भाजपा द्वारा सरकार बनाने के तरीके और भाजपा में शामिल हुए कांग्रेस के विधायक पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा- जो विधायक हमारे नहीं हो पाए वो आपके क्या होंगे। जिस प्रकार 22 विधायक खरीदकर आप ने भाजपा ने सरकार बनाई है वह लोकतंत्र की हत्या है।
मंगलवार काे प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बदनावर में उपचुनाव का शंखनाद करते हुए कहा भाजपा सरकार जोर-जुल्म करेगी, आतंक लाएगी पर डरना नहीं। हम सब आपके साथ खड़े हैं। प्रशासन भी समझता है 3 माह बाद क्या होने वाला है। मैं फिर से चुनाव प्रचार में आऊंगा। अभी तो आपको शुभकामना देने के लिए आया हूं। यह सब आप पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी है। आप का उत्साह देखकर मेरा खून 250 ग्राम बढ़ गया है। आप ने 15 साल कांग्रेस का झंडा उठाया उसी निष्ठा से 2 माह और उठाना। मुझे मध्य प्रदेश की जनता पर पूरा विश्वास है। आपको तो बस ये बताना है। आपके मत का कैसे सौदा हुआ है जनता को बताना है। क्या आपको मत का सौदा मंजूर है। 
25 मिनट भाषण दिया 

कमलनाथ दाेपहर 12.30 बजे वंडर सीमेंट प्लांट पर बने हेलीपैड पर हेलिकॉप्टर से पहुंचे। यहां से 12.48 बजे सड़क के रास्ते 50 से अधिक गाड़ियों के काफिले के साथ बाबा बैजनाथ के दर्शन करने के लिए उड़िया मंदिर पहुंचे। दाेपहर 1.10 पर कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे। जहां पर सर्वप्रथम मंडलम, सेक्टर एवं बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इसके बाद उन्हाेंने 25 मिनट भाषण दिया।

शिवराज सरकार पर बरसे, कहा- मप्र का पानी गुजरात नहीं जाने दूंगा
कमलनाथ शिवराज सरकार पर जमकर बरसे। कहा कि जिस प्रकार 22 विधायक खरीदकर आप ने सरकार बनाई है व लोकतंत्र की हत्या की है। जाे विधायक हमारे नहीं हुए तो आप के भी क्या होंगे। मेरी सरकार ने कौन सा पाप, अपराध या गलती की। मैं तो किसानों का कर्जा माफ कर रहा था। जमाखोरों के खिलाफ युद्ध शुरू किया था। साथ ही ज्योतिरादित्य सिंधिया पर कटाक्ष करते हुुए कहा कि मैं महाराज नहीं हूं और न ही टाइगर हूं, मैं मामा भी नहीं हूं और न ही चाय बेचने वाला मैं ताे कमलनाथ हूं। यह तो जनता तय करेगी कि कौन टाइगर है और कौन बिल्ली और कौन चूहा। मैंने 100 रुपए में 100 यूनिट बिजली दी, महिलाअाें का मान बढ़ाया है। गाेशालाएं बनवाई। किसानों का कर्ज माफ करने की शुरुआत की। दो चरण तो पूरे हो गए थे और तीसरे चरण की शुरुआत 1 जून से करना थी। षडयंत्रपूर्वक विधायकों को खरीद कर सरकार को गिरा दिया गया। लोकतंत्र की हत्या कर दी।

नंदी के कान में की जीत की प्रार्थना : कमलनाथ बदनावर पहुंचने के बाद बाबा बैजनाथ के दर्शन किए। इसके बाद कमलनाथ ने बाहर नंदी के कान में जीत की प्रार्थना की। मंदिर में उनके साथ प्रदेश कांग्रेस सचिव शरद सिसाैदिया इंदाैर भी थे। सिसाैदिया ने उपचुनाव काे लेकर कमलनाथ से चर्चा की। इधर,सभा के बाद में मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव गोविंद पाटीदार द्वारा अपने समर्थकों के साथ पूर्व सीएम कमलनाथ को गदा भेंट कर उनका अभिनंदन किया। मप्र कांग्रेस कमेटी के सचिव सुनील सांखला ने मंच से एसडीएम नेहा साहू की कोरोना काल में किए कार्यों की प्रशंसा की। कमलनाथ प्रमाणित कर दे तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा
राजवर्धनसिंह दत्तीगांव ने कमलनाथ के आरोप का जवाब देते हुए भास्कर से कहा, मैं एक पैसे का दागदार नहीं हूं। कमलनाथ प्रमाणित कर दे तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा। कमलनाथ 70 साल में कभी बदनावर नहीं आए। उनके सीएम रहते मैंने कई बार उन्हें बदनावर में आने का कहा। वे कभी नहीं आए। अब ऐसा क्या हो गया जो वो यहां सभा कर रहे हैं। मेरे  पिताजी कांग्रेसी थे, हम किसके हैं ये बदनावर की जनता जानती है। ये किसी को बताने की आवश्यकता नहीं है।

इन्हाेंने भी संबाेधित किया : पूर्व गृहमंत्री बाला बच्चन, विधायक कांतिलाल भूरिया, पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा, सुरेंद्रसिंह हनी बघेल, विधायक प्रताप ग्रेवाल, हीरालाल अलावा, विधायक पांचीलाल मेडा, जिला कांग्रेस अध्यक्ष बालमुकुंद सिंह गौतम, पूर्व जिला महामंत्री जीपी सिंह राठौर, पूर्व नपा अध्यक्ष अभिषेक मोदी, प्रदेश सचिव सुनील सांखला, ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष निरंजन सिंह पंवार, अभिषेक सिंह राठौर आदि वक्ताओं ने भी सभा को संबोधित किया। शरद सिंह सिसोदिया, गोविंद पाटीदार सहित सभी स्थानीय उम्मीदवारों द्वारा हेलीपेड पर पूर्व सीएम कमलनाथ का स्वागत किया। मंच पर मनोज चावला भी माैजूद रहे। संचालन धीरज दीक्षित ने  किया। 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें