लापरवाही के दो घंटे / सड़क हादसे में घायल पत्नी को अस्पताल लेकर पहुंचा पति, आरोप- सही ढंग से इलाज नहीं मिला, हो गई मौत

X

  • जिला अस्पताल में कोरोना के मरीजों का इलाज करने में व्यस्त डॉक्टर दूसरे मरीजों का इलाज करने से कतरा रहे

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:23 AM IST

धार. काेराेना काल में जिला अस्पताल में लापरवाही का मामला सामने आया है। सड़क दुर्घटना में गंभीर घायल एक महिला ने जिला अस्पताल की चाैखट पर दाे घंटे तड़पने के बाद दम ताेड़ दिया। महिला की माैत के बाद भी परिजन काे महिला का शव साथ ले जाने में काफी परेशानी उठाना पड़ी। दूसरी तरफ दुर्घटना में घायल मृतका का पति इलाज के लिए अस्पताल परिसर में घूमता रहा। सिर से खून बहने पर सिर्फ साधारण पट्टी कर दी, लेकिन हाथ की अंदरुनी चाेट का इलाज नहीं किया।

दरअसल अब्दुल रऊफ अली का यूपी के बांदा जिले के गांव शादीमदनपुर में पुश्तैनी मकान है। अंकलेश्वर जिला भरूच (गुजरात) में काराेबार हाेने से परिवार वहीं रहता है। लाॅकडाउन की वजह से रऊफ अपने गांव ही फंस गए थे। गुजरात और यूपी सरकार से अनुमति मिलने के बाद रऊफ पत्नी अफसाना (50), बेटा माे. अनस (21), भाई इश्तियाक की पत्नी नफिसा, भतीजे माे. अकमल (12), माे. हसन (3) व माे. अजमल (5) के साथ यूपी से गुजरात के लिए गुरुवार शाम 4 बजे अपनी कार से निकले थे। गाड़ी माेहम्मद अनस चला रहा था। शुक्रवार सुबह 8 बजे यह परिवार इंदाैर-अहमदाबाद हाईवे से गुजर रहा था, तभी गाड़ी के सामने कुत्ता आ गया, जिसे बचाने के दाैरान गाड़ी असंतुलित हाेकर पलटी खा गई। हादसे में अफसाना काे गंभीर चाेट आई। परिजन उसे तत्काल पहले निजी अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन वहां से उन्हें जिला अस्पताल रैफर किया गया। परिजनाें का आराेप है कि सुबह 11 बजे वे महिला काे जिला अस्पताल लेकर पहुंच गए थे, लेकिन डाॅक्टर ने उन्हें अटैंड नहीं किया। ढाई घंटे तक महिला तड़पती रही। अंत: उसकी माैत हाे गई।

सब पूछकर जा रहे थे, किसी ने हाथ तक नहीं लगाया
मृतका की देवरानी नफीसा अस्पताल प्रबंधन से गुहार लगाती रही कि उन्हें शव वापस कर दाे, लेकिन काेई उनकी नहीं सुन रहा था। नफीसा ने भास्कर काे बताया  थाेड़ी-थोड़ी देर में काेई व्यक्ति आता और पूछकर चला जाता, लेकिन किसी ने मेरी जेठानी काे हाथ तक नहीं लगाया। यही नहीं डाॅक्टराें ने नफीजा के तीन बच्चे माे. अकमल (12), माे. हसन (3), माे. अजमल (5) व मृतका के बेटे अनस काे कहां चाेट आई यह तक नहीं जाना। नफीसा ने बताया उन्हें कमर में अंदरुनी चाेट आई है, लेकिन किसी ने उनका इलाज नहीं किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना