पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना को करीब से देखने वालों के किस्से:मजबूत की लक्ष्मण रेखा; घर से अब कोई बाहर नहीं निकलता, प्रणायाम से दूर कर रहे कमजोरी

धार2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुकून की तस्वीर, पूरा परिवार घर पर रहकर ठीक हुअा, अब सतर्कता बढ़ा दी। - Dainik Bhaskar
सुकून की तस्वीर, पूरा परिवार घर पर रहकर ठीक हुअा, अब सतर्कता बढ़ा दी।
  • संक्रमण को हराने वालों ने बनाई अपनी गाइडलाइन, बरत रहे ज्यादा सतर्कता
  • जिले में दाे संदिग्ध माैत, चाैबीस घंटे में 233 नए मरीज, याेगाचार्य बाेले- अाहार में लिक्विड ज्यादा लें

काेराेना की भयावह स्थिति काे वे लाेग काफी पास से महसूस कर चुके हैं, जाे पाॅजिटिव हुए लेकिन पूरे दमखम के साथ उसे हराया अाैर निगेटिव भी हुए। काेराेना कितना घातक है मुक्तिधाम में जलती चिताएं अाैर संसाधनाें की कमी इसका प्रमाण हैं। लेकिन दूसरी और जो ठीक हो गए हैं, वो घर पर ज्यादा सतर्कता बरत रहे हैं। वे कहते है, कोरोना जानलेवा है लेकिन सही समय पर इलाज शुरू हो जाए तो यह एक सामान्य बीमारी है। इससे रीकवर होने में भी महीनों लग जाते हैं। सबसे मुश्किल है कोरोना के डर को दूर करना वह परिवार, दोस्ताें और पॉजिटिव लोगों से बात कर दूर किया जा सकता है। ऐसे ही लोगों के किस्से पढ़ें जो कोरोना को हराकर घर में हैं। ज्यादा सतर्क हैं।

इधर काेराेना से माैत एक भी नहीं, लेकिन दाे संदिग्ध माैत
साेमवार काे दाे संदिग्ध मरीजाें की माैत हुई है। कलाबाई (62) निवासी सनावदा की रविवार रात 8.15 व शिवकुमारी (75) निवासी बगड़ी की रात 8.30 बजे माैत हाे गई। राहत की बात यह है कि मई के दाेनाें दिनाें में काेराेना से एक भी माैत नहीं हुई है। अप्रैल के पूरे महीने में 90 माैत हुई है। वहीं रविवार रात तक जिले में 233 काेराेना के नए मरीज मिले हैं। जबकि 250 लाेग स्वस्थ्य हुए हैं। इसी के साथ जिले में अब तक कुल संक्रमिताें की संख्या 9239 व स्वस्थ हाेने वालाें की संख्या 7591 पहुंच गई है।

त्रिमूर्ति नगर निवासी अभिभाषक अतुलसिंह ठाकुर का पूरा परिवार की संक्रमित हाे गया था। सबसे पहले पत्नी कीर्ति व माता अमृता ठाकुर काे काेराेना हुअा। अमृता की सीटी स्कैन कराने पर उन्हें मामूली इंफेक्शन पाया गया। इसके बाद स्वयं अतुल, पिता नरेंद्रसिंह ठाकुर, छाेटे भाई अरुण व इनकी पत्नी वैशाली भी पाॅजिटिव हाे गए थे। सभी ने हाेम अाइसाेलेट रहकर निजी अस्पताल के चिकित्सक से ट्रीटमेंट लिया। संक्रमण बढ़े नहीं। इसलिए अरुण व उनकी पत्नी कुछ दिनों के लिए अलग रहने लगे। सभी ने डाॅक्टरी दवाइयाें के साथ सुबह-शाम भाप, हल्दी का पानी, काढ़ा पिया। परिवार के बच्चे काे बुखार अाया, लेकिन डाॅक्टरी सलाह पर उनका टेस्ट नहीं कराते हुए सिर्फ दवाइयां दी। जिससे वे ठीक हाे गए। नियमित इलाज लेने के बाद फिलहाल पूरा परिवार स्वस्थ्य है। हाेम क्वारेंटाइन अवधि समाप्त हाेने के बाद भी परिवार ने नियम बना लिया।

एक माह होम आइसोलेट रहने के बाद लौटी ड्यूटी पर
यह कहना- मैं बस में सफर के दाैरान संक्रमण की चपेट में अा गई। अप्रैल का पूरा हाेम अाइसाेलेट रही। पवित्रा बताती हैं कि पति की रिपोर्ट निगेटिव आई ये राहत थी। चार साल का बेटा भी है, जिसे रिश्तेदारोंं के पास छोड़ा। साेमवार से मैंने ड्यूटी ज्वाइन भी कर ली। मैं इतना ही कहूंगी। ये बीमारी आपको मानसिक तौर पर तोड़ने का काम करती है। आपने सोच पॉजिटिव रखी तो सब ठीक हो सकता है।

  • पवित्रा चाैधरी महालक्ष्मी नगर, सागर कुटी
  • बीमा अस्पताल में कार्यरत
  • ऐसे संक्रमित हुई- अस्पताल अाने-जाने में संक्रमित हुई।
  • संदेश- पॉजिटिविटी बनाए रखने के लिए अपनों से बात करें।

राजगढ़ की सपना घर पर योग से बढ़ा रही इम्युनिटी
यह कहना- मैं किसी के संपर्क में नहीं आई फिर भी संक्रमित हो गई। समझ नहीं आया संक्रमण कहां लगा। मेरे बाद ही पति अनिल भी संक्रमित हाे गए। हमारा इलाज इंदाैर के वर्मा यूनियन हाॅस्पिटल इंदाैर में चला। 22 अप्रैल काे डिस्चार्ज किया। बेटे हर्ष व ऋषभ स्वस्थ हैं। अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद से दाेनों घर पर ही है। डाॅक्टरी दवाइयां लेने के साथ याेगासन से इम्युन पाॅवर बढ़ा रहे हैं। अनिल ने बताया कि काेराेना का यह दाैर बेहद खराब है। इसलिए जहां तक हाे सकें घराें में ही रहें।

सपना पति अनिल, राजगढ़
ऐसे संक्रमण-
बगैर किसी के संपर्क में आए संक्रमित।
संदेश- ठीक होने के बाद योगा करें

योग से इम्युनिटी बढ़ाएं, अाॅक्सीजन के लिए गाय के गाेबर अाैर घी से अग्निहाेत्र करें
उष्ट्रासन, भूजंग अासन, गाेमुख अासन, प्राणायाम, भृस्तिका, अनुलाेम-विलाेम जैसे अासनों से शरीर काे स्वस्थ बनाएं। इसके अलावा याेग की छह क्रियाअाें में एक कपालभाति भी करना चाहिए। इसमें एक मिनट में 120 स्ट्राेक (झटके) करना चाहिए। अाहार भी प्रकृति के अनुसार लें। फिलहाल बसंत ऋतु चल रहा है। 15 मई के बाद ग्रीष्म ऋतु शुरू हाे जाएगी। इसमें ज्यादा से ज्यादा लिक्विड लें। भांप लें। इससे खून गाढ़ा नहीं हाेगा। सुबह 9 बजे से पहले धूप लें। विटामिन डी काे पचाने के लिए धूप से शक्ति मिलती है। गिलाेय खाएं। इसके अलावा अाॅक्सीजन के लिए गाय के गाेबर व गाय के घी का अग्निहाेत्र करें।
-विजय जाेशी, याेगाचार्य

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

    और पढ़ें