पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आयोजन:माही माता काे चढ़ाई 301 फीट की चुनरी, आज से शुरू हाेगी माही पंचक्राेशी पदयात्रा

राजगढ़5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • क्षेत्र के 100 गांवाें से हाेकर 130 किलोमीटर की पदयात्रा करेंगे श्रद्धालु, 27 को हाेगा समापन

क्षेत्र की पांच दिवसीय 24वीं माही पंचक्रोशी पदयात्रा मंगलवार से माही तट सरदारपुर से शुरू हाेगी। प्रतिवर्ष की परंपरा के अनुसार साेमवार शाम 5.30 बजे चुनरी यात्रा प्राचीन माताजी मंदिर सरदारपुरा से निकली। 301 फीट की चुनरी काे श्रद्धालु हाथाें से उठाकर चले।

जाे नगर के प्रमुख मार्गाें से हाेकर माही नदी पर पहुंची। जहां पर माही माता का अभिषेक, पूजन अर्चन कर चुनरी चढ़ाई गई। चुनरी यात्रा में महंत मंगलदास महाराज, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि मोहन पटेल, विधायक पुत्र शिवांग ग्रेवाल, सेवानिवृत्त एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री मुख्य रूप से शामिल हुए।

पंचक्राेशी यात्रा में शामिल हाेने के लिए श्रद्धालु साेमवार दाेपहर से ही पहुंचने लगे। देर शाम तक आसपास के श्रद्धालुओं का आवागमन लगा रहा। यात्रा में करीब 8 से 10 हजार श्रद्धालुओं के शामिल होने की संभावना जताई जा रही है। इनके भाेजन व रात्रि विश्राम की व्यवस्था माही तट सरदारपुर में की।

रात में कोरोना काल में सेवा देने वाले शासकीय विभाग, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस विभाग, सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाएं, जनप्रतिनिधियों का पंचक्रोशी समिति द्वारा अभिनंदन पत्र भेंट कर सम्मान किया। इस दौरान समिति अध्यक्ष मनीष श्रीवास्तव, विष्णु चौधरी, गोलू बघेल, पिंटू मंडलोई, परवेज लोदी, धीरज पाटीदार, कमल चौधरी, सन्नी गर्ग, मयंक गर्ग, धीरज पाटीदार, बलराम यादव, राहुल चौधरी, पप्पू पटेल आदि माैजूद थे।

धर्म ध्वजा व अखंड ज्योत उठाने की लगेगी बोली

मंगलवार सुबह 8 बजे धर्म ध्वजा उठाने एवं अखंड ज्याेत उठाने की बोली लगने के बाद माही तट सरदारपुर से यात्रा शुरू होगी। माही तट से फूलगांवड़ी बायपास होते हुए अतिप्राचीन तीर्थ झिर्णेश्वर महादेव, पटलावदिया, छिपापुरा होते हुए यात्री 20 किमी की पदयात्रा कर माही उद्गम स्थल मिंडा पहुंचेंगे। जहां सकल पंच राजपूत समाज द्वारा रात्रि विश्राम व भोजन की व्यवस्था की जाएगी।

दूसरे दिन 24 फरवरी को नरसिंह देवला तीर्थ पर विश्राम रहेगा। तृतीय विश्राम 25 फरवरी को शृंगेश्वर धाम पर रहेगा। चतुर्थ विश्राम गाेशाला लाबरिया में रहेगा। अंतिम दिन 27 फरवरी को दोपहर का भोजन माही माता मंदिर बोला में हाेगा। यहां से श्रद्धालु सरदारपुर पहुंच कर पदयात्रा का समापन करेंगे। जगह-जगह रात्रि विश्राम व भाेजन की व्यवस्था विभिन्न समाज द्वारा की जाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें