पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

निर्माण कार्य:बदनावर-नागदा के बीच 27 किमी में 300 से अधिक गड्ढे, सड़क पर लग रहे मिट्‌टी के ढेर

धार12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हाईकाेर्ट ने इस मार्ग की दशा सुधारने के लिए गत वर्ष टाेल संचालन बंद रखने के आदेश भी दिए थे

लेबड़-नयागांव फाेरलेन की हालत एक बार फिर खराब हाे गई है। गत वर्ष हाईवे पर लगातार हादसाें अाैर वाहनाें में टूट-फूट के चलते मामला हाईकाेर्ट में भी पहुंचा था। काेर्ट के आदेश पर रखरखाव के लिए जिम्मेदार टाेल कंपनी ने पेंचवर्क करवाया था। इस बार कम बारिश में ही बदनावर से नागदा तक 27 किमी में 300 से अधिक गड्ढे हाे गए हैं। इनमें भी कई जगह ताे आधा-आधा फीट चाैड़ाई के हैं। इस मार्ग से सात हजार वाहन रोज गुजरते हैं। टाेल कंपनी 10 से 15 लाख रुपए प्रतिदिन का टैक्स वसूलती है। एक महीने पहले एसडीएम ने एमआरडीसी काे राेड की खराब हालत काे लेकर पत्र लिखा था, लेकिन अभी तक काेई कार्रवाई नहीं की गई है। गाैरतलब है कि हाईकाेर्ट ने इस मार्ग की दशा सुधारने के लिए गत वर्ष टाेल संचालन बंद रखने के आदेश भी दिए थे। बदनावर से नागदा की दूरी तय करने में लग रहे 60 मिनट : बदनावर से नागदा की कुल दूरी 27 किमी है, पहले फाेरलेन पर कार या बाइक से नागदा तक पहुंचने में 20 से 25 मिनट लगते थे, लेकिन राेड की हालत खराब हाेने के बाद अब 60 मिनट लग रहे हैं। कानवन के वकील सुह्दय घाेड़ागांवकर का कहना है वाहनाें में टूट-फूट भी हाे रही है। राेज बदनावर काेर्ट जाना पड़ता है। कई बार गड्ढाें और कीचड़ के कारण फिसल से बाइक सवार गिर जाते हैं।

पेंचवर्क में गड्ढाें में डाल दी थी मुरम मिक्स मिट्टी, इसी से उखड़ा राेड
बदनावर से नागदा तक का राेड खराब है। इसमें भी कानवन से नागदा के बीच 10 किमी में सबसे अधिक गड्ढे हैं। गत वर्ष बारिश के पहले पेंचवर्क किया था। टाेल कंपनी ने पहले मुरम मिक्स मिट्टी गड्ढाें में डाल दी थी। उसके ऊपर कच्चा डामर लगाया था। जाे कि इस बार पहली बारिश में ही उखड़ गया। इससे मार्ग फिर गड्ढाें में तब्दील हाे गया है। कानवन-नागदा के बीच गड्ढाें के बीच सड़क की ऊपर की परत ही उखड़ गई है। कानवन से अागे नागदा राेड पर गिट्टी फैल रही है। भारी वाहनाें के टायराें से गिट्टी-पत्थर उड़ते हैं जाे कई बार बाइक या कारसवाराें काे लगते हैं। इस मार्ग पर बड़े हादसे का अंदेशा रहता है।

टाेल मैनेजर पर एफआईआर के आदेश भी हुए थे

छाेकलां टाेल कंपनी काे मार्ग का रखरखाव नहीं करने पर रतलाम के वकील प्रशांत ग्वालयरी ने हाईकाेर्ट में कंपनी के खिलाफ याचिका दायर की थी। बदनावर एसडीएम ने मैनेजर पर एफआईआर करने के आदेश दिए थे। काेर्ट ने मार्ग के गड्ढे भरने तक टाेल बंद रखने के आदेश दिए थे। जिसके तहत कुल 22 दिन टाेल बंद रहा था।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें