पहले दिन पूछताछ के लिए पहुंचे दावेदार:जिपं व जनपद सदस्य का फार्म एक भी नहीं उठा, 7 दिन चलेगी प्रक्रिया

धारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंचायत चुनाव की अधिसूचना का प्रकाशन साेमवार काे हाेने के साथ ही नाम निर्देशन पत्र जमा करने का काम शुरू हो गया है। जिला पंचायत सदस्य के आवेदन धार कलेक्टोरेट स्थित कलेक्टर बोर्ड पर जमा होंगे। जबकि जनपद प्रतिनिधि,सरपंच व पंच के नामांकन फार्म जनपद मुख्यालयों पर जमा किए जाएंगे। पहले दिन पूछताछ के लिए दावेदार पहुंचे लेकिन काेई फार्म नहीं ले गए। पहले व दूसरे चरण के नामांकन एक साथ हाेंगे। इसमें 176 जनपद, 19 जिला पंचायत सदस्य, 542 सरपंच व 7780 पंच के लिए 20 तक नामांकन की प्रक्रिया चलेगी। पहले चरण में नालछा, मनावर, धरमपुरी व गंधवानी में आने वाली दो-दो जिला पंचायत प्रतिनिधि की सीट के लिए धार में नामांकन जमा होंगे। जबकि सरपंच पद के उम्मीदवार अपना नामांकन जनपद मुख्यालयों पर जमा कर सकेंगे। दूसरे चरण में धार, तिरला व उमरबन की दो-दो सीट, कुक्षी की एक व बदनावर की चार जिला पंचायत प्रतिनिधि की सीट के लिए उम्मीदवार नामांकन फार्म जमा कर सकेंगे। दूसरे चरण में सरपंच पद के नामांकन भी हाेंगे। पहले चरण का मतदान 6 जनवरी काे जबकि दूसरे चरण का 28 जनवरी काे हाेगा। दाेनाें चरण के लिए नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की शुरुआत साेमवार से हाेकर 20 दिसंबर तक चलेगी। नाम निर्देशन पत्रों की जांच 21 दिसंबर को कर 23 काे नाम वापसी के साथ फाइनल सूची तैयार कर चुनाव चिह्न आंवटित किए जाएंगे। पंच-सरपंच के लिए मतगणना 6 जनवरी को मतदान के बाद होगी। जबकि जनपद सदस्य व जिपं सदस्य की ब्लॉक स्तर पर ईवीएम से मतों की गणना 10 जनवरी को की जाएगी। चुनाव की घोषणा के बाद पार्टियों में भी बैठकें के दौर शुरू हो गए: ग्राम पंचायत चुनाव दाे साल से आगे बढ़ाए जा रहे थे। 2019 के अंत तक चुनाव हाेना थे लेकिन काेराेना शुरू हाेने से प्रक्रिया ठप हाे गई। दाे साल से प्रधान के रूप में सरपंच, जनपद अध्यक्ष व जिला पंचायत अध्यक्ष कामकाज संभाल रहे थे। वर्ष 2019 में हुए परिसीमन के आधार पर जिले में 134 नई पंचायतें बनाई गई थी। लेकिन परिसीमन समाप्त हाेने से यह पंचायतें अस्तित्व में नहीं अाई। परिसीमन के बाद पंचायत का दर्जा मिलने से ग्रामीणाें काे नया सरपंच चुनने व गांव के विकास की उम्मीद थी। चुनाव का शंखनाद हाेते ही भाजपा-कांग्रेस में भी बैठकाें का दाैर शुरू हाे गया है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव पर एक नजर 27 जिला पंचायत सदस्य। 249 जनपद पंचायत सदस्य। 763 सरपंच चुने जाएंगे। 11295 पंच का चुनाव। 2487 मतदान केंद्र बनाए गए। 13 हजार से ज्यादा कर्मचारी जुटेंगे चुनाव में।

खबरें और भी हैं...