पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आयोजन:राजा भाेज ने धार काे राजधानी बनाया था, उन्हीं से शहर की पहचान : कलेक्टर

धारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • धार के पीजी काॅलेज में अायाेजित दो दिवसीय भोज समारोह का समापन

किसी भी शहर की पहचान उसकी सांस्कृतिक विरासत से होती है। महाराजा भोज एक महान व्यक्तित्व के धनी राजा थे, उन्होंने धार को अपनी राजधानी बनाया था। इस प्रकार के कार्यक्रम बड़े स्तर पर होना चाहिए ताकि जनता को इस सांस्कृतिक विरासत से एवं उसके पुरातत्व इतिहास की जानकारी प्राप्त हो सके।

यह बात कलेक्टर आलाेक कुमार सिंह ने संस्कृति विभाग द्वारा अायाेजित दाे दिवसीय भाेज समाराेह के समापन पर कही। विशेष अतिथि रजनीश सिन्हा ने बताया कि राजा भोज की प्रासंगिकता आज भी उतनी है, जितनी उस समय थी।

महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. एच.एल. फुलवरे ने कहा छात्रों एवं विद्वानों को उनकी प्रबंध व्यवस्था एवं साहित्य तथा ग्रंथों को जानना चाहिए। धार में शासकीय भोज संस्थान की स्थापना होनी चाहिए। महाविद्यालय के प्रशासनिक अधिकारी डॉ. एंजू खान ने कहा कि राजा भोज की प्रशासन व्यवस्था एवं अनुशासन को आज हमें सभी को सीखने की आवश्यकता है। अध्यक्षीय उद्बोधन डॉ. जगदीश शर्मा विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन ने दिया। उन्होंने भोज समारोह के समापन अवसर पर पढ़े गए समस्त शोध पत्रों का सार प्रस्तुत किया।

लगभग 27 विद्वानों ने राजा भोज से संबंधित शोध पत्रों का वाचन किया। कार्यक्रम में पलक पटवर्धन के निर्देशन में वासुदेवसर्वंम नृत्य नाटिका, निनाद नृत्य अकादमी उज्जैन द्वारा एवं लोक नृत्य महाविद्यालय के रासेयाे के स्वयंसेवकों द्वारा प्रस्तुत किया गया। संचालन संस्कृत विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. केएस चाैहान ने किया। समारोह की प्रभारी निर्देशक प्रतिभा दवे थी। रामअवतार गोमे व मुकेश काले के निदेशन में संपन्न हुआ।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें