पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

त्योहार:मौलिकता खोता जा रहा रक्षाबंधन : जैनाचार्य

धार9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रक्षाबंधन का एक अलग महत्व है। यह प्रेम-त्याग और समर्पण के साथ भाई की दीर्घायु की भावना काे एक छाेटे से रक्षासूत्र से एक बंधन में पिराेया जाने वाला पर्व है, लेकिन भाैतिकवाद की चकाचाैंध व पश्चिमी परंपरा के चलते रक्षाबंधन अपनी मौलिकता खाेता जा रहा है। आज बहन कुछ पाने के लिए भाई काे राखी बांध रही है ताे भाई-भाेजाई राखी काे टैक्स नाेटिस के रूप में देखने लगे हैं। नतीजा माैली की राखी का स्थान महंगे साेने-चांदी की फैंसी राखियाें ने ले लिया है। यह बात चातुर्मास के लिए भक्तामर जैन तीर्थ में विराजित जैनाचार्य जीतरत्न विजयजी ने राखी के उपलक्ष्य में प्रवचन देते हुए कही। उन्हाेंने कहा अपने परिवार में उच्च भाैतिक महत्व की परिकल्पना काे मन में संजाेना चाहिए, लेकिन अाज अपनत्व और प्यार कहीं नहीं है। इस कारण भाई-बहन के प्रेेम और समर्पण का यह पर्व त्याग और अपनत्व के स्थान पर स्वार्थ में बदलता नजर आ रहा है। जैनाचार्य ने बताया काेराेनाकाल में शासन के नियमाें का पूरा पालन किया जा रहा है। इसके तहत सामूहिक प्रवचन नहीं देते हुए एक बार में एक ही परिवार काे वाट्सएप के माध्यम से संदेश भेजकर बुलाया जा रहा है। बीते एक महीने में जैनाचार्य लगभग 18 परिवाराें काे प्रवचन दे चुके हैं। अब भी करीब 30 परिवाराें ने वाट्सएप पर बुकिंग करा रखी है, जिन्हें अलग-अलग समय दिया गया है।

जैन आगमाें में भी रक्षाबंधन का उल्लेख है
जैनाचार्य ने दीर्घकाल में भी राखी काे प्रचलित बताया। उन्हाेंने कहा जैन आगमाें में भी रक्षाबंधन का उल्लेख है। तीर्थंकरों के जन्म के समय 56 कुमारिया उन्हें रक्षासूत्र बांधकर उनके दीर्घायु की कामना करती थी। वैदिककाल में ब्राह्मण यजमान काे रक्षासूत्र बांधते थे। प्रवक्ता अभिषेक जैन ने बताया 4 अगस्त काे आचार्यश्री श्रीराम और उनके साम्राज्य के विषय में प्रवचन देंगे। क्याेंकि 5 अगस्त काे अयाेध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू हाेने जा रहा है। जाे सिर्फ भारतीय के लिए ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के लिए गाैरव का विषय है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें