भगवान धारनाथ नगर भ्रमण पर:गार्ड ऑफ ऑनर के साथ शुरू हुई सवारी, युवा कंधे पर लेकर चले भगवान धारनाथ की पालकी

धारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भगवान धारनाथ को गार्ड ऑफ ऑनर देते हुए। - Dainik Bhaskar
भगवान धारनाथ को गार्ड ऑफ ऑनर देते हुए।

भगवान धारनाथ सोमवार दोपहर 4 बजे के करीब सुसज्जित पालकी में विराजित होकर निकले। धर्मस्थान रक्षक मंडल के तत्वावधान में परंपरा अनुसार ही पालकी में धारनाथ का छबीना निकल रहा है। साथ ही पालकी को मांझी समाज के युवा कंधे पर उठाकर नगर भ्रमण करवा रहे हैं।

भगवान धारनाथ।
भगवान धारनाथ।

मंदिर के पुजारी श्याम दुबे ने बताया प्रात: नित्य पूजन के बाद 8 बजे महाआरती हुई। इसके बाद 10 बजे 11 ब्राह्मणों द्वारा रुद्राभिषेक किया गया। इसके बाद दोपहर 3 बजे बाबा का मुखौटा पालकी में विराजित कर प्राण-प्रतिष्ठा की गई। सायं 4 बजे पूजन किया गया। इस दौरान विधायक नीना वर्मा, कलेक्टर आलोक सिंह, एसपी आदित्य प्रताप सिंह सहित पुलिस व राजस्व विभाग के अधिकारी मौजूद रहे। इसके बाद आरती में सभी भक्त शामिल हुए। अंत में गार्ड ऑफ ऑनर के बाद मांझी समाज के युवा पालकी को लेकर मंदिर परिसर से बाहर निकल गए।

छबीना मंदिर से निकलकर बख्तावर मार्ग से हटवाड़ा, मोहन टॉकीज, उटावद दरवाजा, भाजी बाजार आदि परंपरागत मार्गों से होकर रात में पुन: मंदिर पहुंचेगा, जहां शयन आरती होगी। कोरोना संक्रमण के चलते छबीने के अतिरिक्त अन्य कोई जुलूस, झांकी, अखाड़े नहीं निकले जा सकते हैं, साथ ही छबीने में वाद्ययंत्र, बैंड, ढोल, मंजीरे का उपयोग भी किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...