पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Dhar
  • The Name Of Hindu New Year Will Be Anand, Mars Will Be Mars, Summer Will Be More, Rain Will Be Less Pt. Shastri

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धर्म समाज:हिंदू नववर्ष का नाम आनंद रहेगा, गर्मी अधिक पड़ेगी, बारिश कम हाेगी-पं. शास्त्री

धार11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नव वर्ष में कम हाेगा महामारी का प्रकाेप

13 अप्रैल को विक्रम संवत् 2078 को हिंदू नववर्ष मनाया जाएगा। शास्त्रों में कुल 60 संवत्सर बताए गए हैं। हिंदू नववर्ष 2078 पर इस बार 90 साल बाद एक अद्भुत संयोग बन रहा है। ये संयोग कष्ट देगा और जीवन में आनंद लेकर भी आएगा। निर्णय सिंधू के अनुसार वर्तमान में विचित्र संयोग के चलते एक संवत् पूरी तरह विलुप्त रहेगा। इससे रोग, भय और राक्षस प्रवृत्ति बढ़ाेतरी हाेगी। संवत्सर का मतलब 12 महीने की काल अवधि है। सूर्य सिद्धांत के अनुसार, संवत्सर बृहस्पति ग्रह के आधार पर निर्धारित किए जाते हैं। बृहस्पति हर 12 साल में सूर्य का एक चक्कर पूरा करता है। इन 60 संवत्सर यानी की 60 सालों के तीन हिस्से होते हैं। संवत्सर यानी हिंदू वर्ष, प्रत्येक वर्ष का अलग-अलग नाम होता है।

शास्त्रों के अनुसार 2078 संवत्सर का नाम आनंद होगा। इसके प्रभाव से आपके जीवन में आनंद आएगा। महामारी का प्रकोप कम पड़ जाएगा। इस संवत्सर के स्वामी भग देवता हैं। इनके आगमन से लोगों के बीच खुशियां आती हैं। 13 अप्रैल को मंगलवार का दिन है और इसी दिन से प्रतिप्रदा भी है तो इस संवत्सर का राजा मंगल होगा। नया विक्रम संवत 2078 वृषभ लग्न और रेवती नक्षत्र में शुरू होगा। इस बार अमावस्या और नव संवत्सर के दिन सूर्य और चंद्रमा दोनों मीन राशि में ठीक एक ही अंश पर रहेंगे। यानी कि मीन राशि में नया चंद्रमा उदय हो जाएगा। वृषभ राशि में मंगल और राहू दोनों ही मौजूद रहेंगे। राजा, मंत्री और वर्षा इन तीनों का अधिकार मंगल के पास है। 2078 का संवत् वर्ष कहता है कि इस साल बहुत ज्यादा गर्मी पड़ने वाली है, बरसात थोड़ी कम होगी। इस बार वित्त का अधिकार भी बृहस्पति के पास है तो पूरी दुनिया की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।

13 अप्रैल काे रात 2.32 बजे सूर्य मेष राशि में आएंगे
पं. अशाेक शास्त्री के अनुसार 13 अप्रैल को शुरू हो रहे नवसंत्सर के दिन रात को 2 बजकर 32 मिनट पर सूर्य मेष राशि में आ जाएंगे। सूर्य के मेष राशि में प्रवेश करते ही मेष संक्रांति शुरू हो जाएगी। ये साल की सबसे बड़ी संक्रांति मानी जाती है। संवत्सर प्रतिपदा और मेष संक्राति एक ही दिन पड़ रही है। ये संयोग 90 साल के बाद बन रहा है। कुछ विद्वानों का कहना है कि 13 अप्रैल से शुरू होने वाला संवत् वर्ष आनंद नाम से ही जाना जाएगा। इस साल हर्ष और उल्लास बढ़ेगा। लेकिन मंगल क्रूर है और युद्ध का देवता भी है तो इस संवत् वर्ष में दुर्घटना, विनाश, हिंसा, भूकंप पुलिस और एयरफोर्स बहुत ज्यादा प्रभावशाली हो जाएंगे। इस साल आग की घटनाओं की संभावना बढ़ जाएगी। शल्य चिकित्सा आधुनिक हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें