पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गाइडलाइन ताेड़ने की सजा:पुलिस ने डंडाें से इतना पीटा कि युवक बेहाेश हाे गया

धारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महिला बताते हुए नरेंद्र ने हाथ जोड़े लेकिन पुलिस डंडे पीटती रही। - Dainik Bhaskar
महिला बताते हुए नरेंद्र ने हाथ जोड़े लेकिन पुलिस डंडे पीटती रही।
  • पुलिस की सफाई- परिवार क्वारेंटाइन में है, फिर भी घर के बाहर थे, पूछने पर बदतमीजी की

टांडा में एक युवक को बेरहमी से पीटने का मामला सामने आया है। पुलिस की डंडो से पीटाई के बाद युवक बेहोश हो गया। जबकि पुलिस कह रही परिवार काे क्वारेंटाइन किया गया है। इसके बाद भी वह मकान का निर्माण करवा रहा था। उससे पूछने पर उसने पुलिस से बदतमीजी की। थाने में भी लिखापढ़ी के दाैरान वह पूरी तरह से सामान्य था। डाॅक्टरी रिपाेर्ट में भी एेसा कुछ नहीं अाया है। पुलिस पर बेवजह का दबाव बनाया जा रहा है।

जबकि युवक को अस्पताल ले जाने के वीडियो जरूर वायरल हुए हैं। जिसमें युवक बेहोश दिख रहा है और पास खड़ी महिलाएं कह रही है। उसने पुलिस के सामने हाथ भी जोड़े लेकिन पुलिस ने डंडो से बेरहमी से पीटा। टांडा के राठाैर समाज के उपाध्यक्ष नरेंद्र राठाैर का कहना है कि नए अावास पर दाे दिन पहले चाेरी हाे गई थी। सुरक्षा के लिए शटर लगवा रहे थे तभी थाना प्रभारी विजय वास्केल वहां अाए। कारण जानने के बाद भी डंडाें से बेहरमी से पीटा। थाने ले जाकर वहां भी पीटा, इससे बेहाेश हाे गया। परिवारवालों का कहना है गलती की तो कानूनी कार्रवाई करना थी।

थाने पर भी दाे घंटे रहा, काेई परेशानी नहीं थी

नरेंद्र ने गाइडलाइन का उल्लंघन किया है। पुलिस पर दबाव बनाने के लिए यह सब किया जा रहा है। उसने पुलिस से बदतमीजी भी की। वह थाने में भी दो घंटे रहा। कोई परेशानी नहीं थी।
विजय वास्केल, थाना प्रभारी, टांडा।

खबरें और भी हैं...