लाॅकडाउन इफैक्ट / बिजली कंपनी की महीने में 70 लाख वसूली होती थी घटकर 12 लाख रुपए रह गई

X

  • अब करेंगे वसूली, पिछले माह कुछ उपभोक्ताओं के अधिक बिल आने की शिकायत मिलने पर उनका निराकरण कर दिया जाएगा

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:38 AM IST

राजगढ़. पिछले दो माह में बिजली कंपनी का वसूली लक्ष्य पिछड़ गया है। मार्च की वसूली अप्रैल में केवल 12 लाख के आंकड़े को ही छू सकी। अप्रैल व मई में अब तक वसूली करीब 20 लाख रु. ही हुई। जबकि इसके पहले प्रतिमाह कार्यालय को 70 से 80 लाख रु. प्रतिमाह उपभोक्ताओं से राशि प्राप्त हाे रही थी। लाॅकडाउन के चलते कंपनी काे घाटा उठाना पड़ रहा है। हालाकिं सरकार ने राहत पैकेज की घोषणा की है।

24 मार्च से लाॅकडाउन लगने के कारण बिजली बिल का वितरण उपभोक्ताओं को नहीं हो पाया। ऑनलाइन बिल राशि जमा करने में उपभोक्ताओं ने कम ही रुचि दिखाई। जिसकी वजह से जहां माह में 70 लाख रु. से अधिक की वसूली होती थी वह घटकर मात्र 12 लाख रु. रह गई। अप्रैल में भी बिल वितरण व रीडिंग नहीं ली जा सकी। इसके कारण वसूली मई में अब तक केवल 20 लाख रु. ही हुई। केंद्र सरकार द्वारा घोषित पैकेज में बिजली कंपनियों को राहत देने की बात कही है। इसके लिए बड़ा बजट स्वीकृत हुआ है। बिजली कंपनी के सहायक यंत्री श्याम रायकवार ने बताया दो माह में कंपनी को उपभोक्ताओं से ऑनलाइन बहुत कम राशि प्राप्त हुई हैं। गत माह के बिल की राशि पिछले वर्ष की रीडिंग के आधार पर मैसेज के रूप में उपभोक्ताओं को भेजी थी। क्योंकि रीडिंग नहीं ली जा सकी थी। 

इस माह वास्तविक रीडिंग (मीटर में दर्ज) लेकर वास्तविक बिल ही उपभोक्ताओं को दिए जाएंगे। पिछले माह कुछ उपभोक्ताओं के अधिक बिल आने की शिकायत मिलने पर उनका निराकरण कर दिया जाएगा। 25 मई तक बिल आएंगे इसके बाद वितरण किया जाएगा। आगामी माह में संबल योजना शुरू होने से वर्तमान में चल रही योजना के अनेक पात्र बाहर हो जाएंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना