पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हत्या और आत्महत्या:पहली से नहीं तोड़े संबंध, गुस्से में दूसरी पत्नी ने पति की हत्या कर लगा ली फांसी

बाग2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घर के बाहर विलाप करते परिजन। - Dainik Bhaskar
घर के बाहर विलाप करते परिजन।
  • पत्नी ने चाकुओं से किए वार, नशे में होने से शिक्षक खुद को नहीं बचा पाया

नगर की ब्लाॅक काॅलाेनी निवासी शिक्षक की दूसरी पत्नी ने मटन काटने के छूर्रे से हत्या कर दी। घटना के एक घंटे बाद पत्नी ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना गुरुवार रात 9 बजे की बताई जा रही है। उस समय घर में दंपती के दाे बेटी व बेटे भी थे। शिक्षक ने दाे शादी की थी। पहली पत्नी काे पैतृक गांव झड़आमली में रख रखा था जबकि दूसरी पत्नी के साथ बाग में रहता था। पुलिस के अनुसार मृतक हीरेसिंह पिता फतुसिंह चाैहान (45) बाग विकासखंड के प्राथमिक विद्यालय घुड़दलिया में पदस्थ था। जाे ब्लाॅक काॅलाेनी स्थित शासकीय क्वार्टर में रहता था। हीरेसिंह टांडा थानाक्षेत्र के पैतृक गांव झड़आमली में रहने वाली पहली पत्नी सुशीला से मिलकर रात 8 बजे घर पहुंचा था।

घर पहुंच कर 15 वर्षीय बेटी चेतना काे खाना लगाने का बाेल कमरे में चला गया। जहां साथ रहने वाली दूसरी पत्नी राधाबाई चाैहान (40) ने दरवाजा बंद कर पहली पत्नी से मिलकर आने की बात पर विवाद शुरू कर दिया। काफी दे तक दरवाजा नहीं खुला।

बेटी की सूचना पर परिजनाें ने पुलिस बुलाई
पति और पत्नी दोनों कमरे में ही थे। जिनके बीच पहली पत्नी को लेकर विवाद शुरू हो गया। काफी देर बाद बेटी अपने माता-पिता के लिए गर्म खाना लेकर पहुंची और दरवाजा खटखटाया लेकिन अंदर से आवाज नहीं आने से घबरा गई। बेटी चेतना ने झड़अामली में रहने वाले मामा के लड़के सुरेश पिता मुकामसिंह व नानी अमलीबाई काे फाेन कर सूचना दी।

इनके आने पर दरवाजा ताेड़ कर देखा ताे हीरेसिंह का शव खून से लथपथ खटिया पर पड़ा था। जबकि राधाबाई फांसी के फंदे पर लटकी हुई थी। सभी ने मिलकर राधाबाई काे फंदे से नीचे उतार पुलिस काे सूचना दी। पुलिस ने पहुंच कर जांच पड़ताल की। शुक्रवार सुबह एसडीओपी एव्ही सिंह व एफएसएल अधिकारी पिंकी मेहरड़े माैके पर पहुंची। पुलिस के मुताबिक पत्नी ने पहले पति की हत्या की और फिर खुद भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

डेढ़ माह से दंपती के बीच चल रहा था विवाद

बाग थाना प्रभारी एमपी वर्मा ने बताया मृतक हीरेसिंह की दाे पत्नियां थी। पहली पत्नी झाबुआ जिले के गांव माेहलीपाड़ा की सुशीला थी। जाे पैतृक गांव झड़आमली में रहती है। सुशीला के भी चार बच्चे थे। इसके बाद शिक्षक ने राधाबाई से दूसरी शादी कर अपने साथ रख लिया।

इससे चेतना 15, प्रतीमा 13, शुभम 11, श्रवण 19 हैं। बेटी सुशीला ने बताया था कि मम्मी व पापा के बीच डेढ़ माह से पारिवारिक विवाद चल रहा था। मां काे आशंका थी कि पिता अपना वेतन पहली पत्नी काे देकर आए दिन उससे मिलने जाते हैं। इसी बात पर विवाद हाेता था।

नसें कटने से हुई हीरेसिंह की माैत : डाॅक्टर
बाग अस्पताल में शवाें का दाे डाॅक्टराें की पैनल ने पीएम किया। डाॅ.एचएस मुवेल व वीरभद्र मुवेल ने बताया हीरेसिंह का पत्नी ने मटन काटने वाले छूर्रे से प्राइवेट पार्ट काटने के बाद पेट के नीचे वाले हिस्से में कई बार छूर्रे से वार किए। इससे लेफ्ट साइड की नसें कट गई। अधिक खून बहने के बाद हीरेसिंह की माैत हुई। मृतक ने शराब भी पी रखी थी। इसके चलते वह विराेध नहीं कर पाया। आधे से एक घंटे बाद पत्नी ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।
पारिवारिक विवाद में हुई घटना
पारिवारिक विवाद के चलते दंपती में आए दिन विवाद हाेते थे। बेटी ने भी यह बात बताई है। दूसरी पत्नी ने छूर्रे से वार कर हत्या कर खुद ने भी आत्महत्या कर ली। मर्ग कायम कर मामले की जांच की जा रही है।- एमपी वर्मा, थाना प्रभारी बाग।

खबरें और भी हैं...