धार में बच्चों को उपहार दिए:महिला बाल विकास विभाग की टीम बच्चों को दे रही खुशियां

धारएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
उपहार देती महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम। - Dainik Bhaskar
उपहार देती महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम।

धार में कोरोना महामारी के चलते जिन बच्चों ने अपने माता-पिता व अभिभावकों को खो दिया है, ऐसे बच्चों की देखभाल, शिक्षा की व्यवस्था शासन द्वारा की जा रही है। इसके तहत ऐसे बच्चों को मुख्यमंत्री कोविड-19 योजना के तहत प्रतिमाह 5 हजार रुपए पेंशन बच्चों को आर्थिक एवं खाद्य सुरक्षा प्रदान की जाती है।

जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार कोविड महामारी के चलते अपने माता-पिता को खो देने वाले बच्चों को दिपावली के अवसर पर ये स्वयं को अकेला या उपेक्षित न समझें तथा खुशियां बांटने मिठाई, फुलझड़ी एवं उपहार विभाग द्वारा प्रदान किए गए। जिले में ऐसे 36 बच्चे हैं, जिन्हें वर्तमान में इस योजना का तहत लाभ प्रदान किया जा रहा है। ऐसे सभी बच्चों को मिठाई, फुलझड़ी एवं उपहार विभाग द्वारा वितरित किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री कोविड-19 योजना अन्तर्गत ऐसे समस्त बच्चे पात्र हैं, जिनके माता-पिता नहीं रहे। जिन्होंने कोरोना में अपने माता-पिता, कानूनी अभिभावक या दत्तक माता-पिता में से दोनों या किसी एक को खो दिया है। दूसरे की मृत्यु इस अवधि के पहले कभी भी हुई हो। ऐसे बच्चे पात्र होकर उन्हें इस योजना का लाभ प्रदान किया जाता है।