पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस की कार्रवाई:सीमेंट कंपनी की डीलरशिप देने का झांसा देकर 3 व्यापारियाें से वसूले थे 61.16 लाख, गिरोह पकड़ाया

राजगढ़13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जीराबाद में कंपनी बताते हुए एक अन्य निर्माणाधीन रोबोटिक प्लांट का दिखावा कर की थी डील

राजगढ़ के सीमेंट व्यापारियाें काे धार, बड़वानी, झाबुआ-आलीराजपुर की डीलरशिप देने का झांसा देकर 61.16 लाख रु. वसूलने वाले गिराेह काे पुलिस ने पकड़ लिया है। रतलाम के पूर्व महापौर शैलेंद्र डागा से भी 45 लाख रु. की धोखाधड़ी की गई थी।

डागा की शिकायत पर रतलाम पुलिस ने गिराेह के 4 बदमाशाें काे भोपाल और रतलाम से पकड़ा हैं। कंपनी का कथित मालिक और अकाउंटेंट फरार हैं। इन आराेपियाें काे भी पकड़ने के लिए टीम भेजी गई है।

दरअसल श्री कृष्णन सीमेंट प्राइवेट लिमिटेड भोपाल के कथित डायरेक्टर हरीश कृष्णन ने कार्पोरेट हेड रमेश कुमार राहेराव, मार्केटिंग हेड सुरेश कुमार राहेराव, अकाउंटेंट विकास डांगरे, रीजनल सेल्स मैनेजर ईश्वरलाल राठौड़ निवासी रतलाम व सेल्स मैनेजर हृदेश द्विवेदी निवास रतलाम व शिवानी मैडम भोपाल ने चार जिलाें की डीलरशिप देने का झांसा दिया था।

राजगढ़ के व्यापारी मनीष कुमार जैन से 52 लाख 37 हजार 500 रु. लिए थे। 23 जुलाई 2020 के बाद से डील हाेकर कुछ समय सीमेंट भेजी इसके बाद भेजना बंद कर दी। भानगढ़ के देवीलाल कुमावत से भी 7 लाख 77 हजार 800 रु. व सरदारपुर निवासी भूरीबाई प्रहलाया से 1 लाख 10 हजार रु. की धाेखाधड़ी की थी।

सरदारपुर तहसील के अलावा पेटलवार, राऊ, रतलाम सहित इंदौर संभाग में कुल 23 व्यापारी से करोड़ों की ठगी की थी। राजगढ़ के व्यापारियाें ने भी थाने पर इसकी शिकायत की थी। आराेपियाें ने जीराबाद में कंपनी होना बताते हुए एक अन्य निर्माणाधीन रोबोटिक प्लांट बनना बताया था।

रतलाम थाना प्रभारी किशोर पाटनवाला ने बताया आरोपी रमेश, उसके भाई सुरेश को भाेपाल से पकड़ा है। जबकि रतलाम से ईश्वर राठौड़ और हृदयेश द्विवेदी को गिरफ्तार किया है। दाे आराेपी फरार है इसके लिए टीम भाेपाल व इंदाैर भेजी है।

खबरें और भी हैं...