स्वर्ण जयंती वर्ष:गायत्री परिवार के 27 बिंदुओं पर गतिविधियाें काे लेकर गाेष्ठी की

गंधवानीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शांतिकुंज हरिद्वार की स्थापना के 50 वर्ष पूर्ण होने पर वर्ष 2021 को गायत्री परिवार के द्वारा स्वर्ण जयंती वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। गायत्री परिवार के इंदौर जाेन के धार-झाबुआ व अलीराजपुर की एक दिवसीय गोष्ठी गायत्री शक्ति पीठ गंधवानी पर रविवार को की गई। गोष्ठी के पूर्व श्रीकृष्ण शर्मा, इंदौर जोन प्रभारी, मनोज तिवारी बुरहानपुर, जितेन्द्र प्रज्ञा मंदसौर, बृजेश पटेल खंडवा, मोहन पाटीदार गंधवानी ने मां गायत्री के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर गायत्री मंत्रोच्चार के साथ गोष्ठी प्रारंभ की। आगंतुक अतिथियों का स्वागत उद्बोधन गायत्री परिव्राजक प्रकाश भाई ने दिया। श्रीकृष्ण शर्मा ने परिवार के लोगों को बताया कि कोरोना काल में गायत्री परिवार की गतिविधियां शिथिल थी। उसे अब गति देने के लिए गोष्ठी रखी गई है। हमें 27 बिंदुओं पर ध्यान देना है। जैसे सामूहिक साधना, स्वच्छता अभियान, मंत्र लेखन अभियान, प्रज्ञा सत्संग, बालसंस्कार शाला अभियान, दिवंगत आत्मा श्रद्धांजलि शांति प्रार्थना, तीर्थ शयन तीर्थ सेवन, संस्कार परंपरा की स्थापना, पर्यावरण आंदोलन, युवा जोड़ों अभियान, कैरियर काउंसलिंग, ग्राम तीर्थ योजना, पत्रिका अभियान, स्वस्थ्य आंदोलन, वयसन मुक्ति कुरीति उन्मूलन, नारी जागरण कन्या कौशल, गृह गृह गायत्री यज्ञ अभियान जैसे कई बिंदुओं पर कार्य करने के लिए समयदानी निकालना है। मनोज तिवारी बुरहानपुर, जितेन्द्र प्रज्ञा मंदसौर, बृजेश पटेल खंडवा, मोहन पाटीदार गंधवानी ने परिवार के लोगों को संबोधित करते हुए बताया कि अखिल विश्व गायत्री परिवार के संस्थापक पंडित श्रीराम शर्मा एवं माताजी भगवतीदेवी शर्मा के विचारों को जन-जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से शांति कुंज की टोली को गांव-गांव पहुंच कर कार्य करना होगा। 150 से भी अधिक लोगों ने गाेष्ठी में भाग लिया।

खबरें और भी हैं...