पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद एक्शन:जिन पक्षी पालकों को नुकसान हुआ उन्हें चूजे का 20 और मुर्गे के लिए 90 रुपए मिलेगा मुआवजा

झाबुआ10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लगभग 1 हजार पक्षियों को मारकर दफनाया गया रुंडीपाड़ा में। - Dainik Bhaskar
लगभग 1 हजार पक्षियों को मारकर दफनाया गया रुंडीपाड़ा में।
  • रूंडीपाड़ा में देर रात तक चली कार्रवाई, बुधवार सुबह एरिया किया सैनिटाइज

जिले के थांदला के पास रूंडीपाड़ा गांव में कड़कनाथ पोल्ट्री फार्म में बर्ड फ्लू केस मिलने के बाद मंगलवार देर रात तक फार्म और आसपास के एक किलोमीटर के दायरे में पक्षियों को मारकर दफनाने का काम किया गया। इस प्रक्रिया को कलिंग कहा जाता है। विनोद मेड़ा के फार्म में 902 कड़कनाथ मुर्गों और चूजों की कलिंग की गई। आसपास के 8 घरों के 24 देशी मुर्गों की भी कलिंग हुई। इन सभी को गांव से दूर नाले के पास गहरा गड्‌ढा करके दफनाया गया। पीपीई किट पहने 15 से ज्यादा कर्मचारियों ने 8 घंटे में ये काम पूरा किया। बुधवार सुबह फिर से टीम गांव में पहुंची और पूरे इलाके को सैनिटाइज किया गया।

पशुपालन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर विल्सन डावर ने बताया कि जेसीबी से गहरा गड्‌ढा करके मृत पक्षियों को गाढ़कर ऊपर से चूना डाला गया। गड्‌ढा भरने के बाद कांटे बिछाए गए, ताकि कोई जानवर इन्हें निकाले नहीं। पशुपालन विभाग के साथ ही राजस्व विभाग, झाबुआ नगर पालिका, थांदला नगर पंचायत और गांव की पंचायत के कर्मचारियों ने सुबह सैनिटाइजेशन किया। कुल 926 पक्षियों की कलिंग की गई।

1 5 लोगों की टीम ने 902 कड़कनाथ और 24 देशी मुर्गों को गहरे गड्‌ढे में दफनाया
डावर के अनुसार जितने पक्षी मारे गए, उनका मुआवजा पक्षी पालकों को दिया जाएगा। हर चूजे के लिए 20 रुपए और मुर्गे के लिए 90 रुपए देने का प्रावधान है। लेकिन पहले से मृत पक्षियों की तस्दीक नहीं हो सकती, इसलिए उन्हीं पक्षियों का मुआवजा मिलेगा, जिनकी कलिंग की गई या जाे उस जगह मृत अवस्था में मिले।

127 कड़कनाथ मृत मिले
टीम जब मंगलवार शाम पहुंची, तब विनोद मेड़ा के फार्म में 775 कड़कनाथ जीवित और 127 मृत मिले। इन सभी की गिनती मुआवजे के लिए की जाएगी। 775 कड़कनाथ को मारना पड़ा। यहां मिले 902 कड़कनाथ में से 383 बड़े और 519 चूजे थे। इसके अलावा आसपास के 8 घरों में 24 देशी मुर्गे-मुर्गियां जीवित मिले। ये सभी बड़े थे। पटवारी ने पंचनामा भी बनाया है।

4 दिन में 1500 के लगभग कड़कनाथ मरे
मंगलवार को भोपाल लैब से रूंडीपाड़ा के फार्म से भेजे गए कड़कनाथ के शव की जांच रिपोर्ट मिली। इसमें बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई। विनोद मेड़ा के अनुसार 4 दिनों में उसके यहां 1500 के लगभग कड़कनाथ मुर्गों व चूजों की मौत हो चुकी थी। इनमें से 2 हजार चूजे क्रिकेटर महेंद्रसिंह धोनी के रांची फार्म पर भेजने के लिए थे। विनोद को धोनी की ओर से कड़कनाथ चूजों का ऑर्डर मिला था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपकी मेहनत व परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होगा। किसी विश्वसनीय व्यक्ति की सलाह और सहयोग से आपका आत्म बल और आत्मविश्वास और अधिक बढ़ेगा। तथा कोई शुभ समाचार मिलने से घर परिवार में खुशी ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser